पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सेहत की बात:आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर जाकर महिलाओं को दे रही हैं पोषण आहार की जानकारियां

नवापारा राजिम11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जहां संक्रमण के मामले नहीं मिले वहां पालकों की सहमति से आंगनबाड़ियों का संचालन

ब्लॉक के जिन क्षेत्र और पंचायत क्षेत्र में संक्रमण के कोई मामले नहीं मिले हैं, वहां पालकों की सहमति से आंगनबाड़ियों का संचालन किया जा रहा है। प्रदेश में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय पोषण माह के तहत शिशुवती माताओं को पौष्टिक आहार के साथ-साथ पौष्टिक आहार बनाने की सीख भी मिल रही है। परियोजना अधिकारी जागेश्वर साहू ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को गर्भ में पल रहे शिशु की उचित देखभाल के साथ स्वस्थ शिशु के लिए किन पौष्टिक आहार का उपयोग करना है, के बारे में भी गृह भ्रमण और बैठकों के माध्यम से जानकारी दी जा रही है। इसी कड़ी में अभनपुर ब्लॉक के सेक्टर तोरला की ग्राम पंचायत टीला में आंगनबाड़ी-1 से 4 तक में कई गतिविधियों का आयोजन किया गया। इस दौरान 6 माह की गर्भवती सुजाता कहती हैं कि गृह भेंट के दौरान आंगनबाड़ी और मितानिन दीदी ने बताया कि गर्भवती महिलाओं और उनके बच्चे के लिए मुनगा भाजी कितनी लाभकारी है। बच्चा होने के बाद दूध पिलाने वाली मां के लिए भी मुनगा भाजी अमृत के समान है। इसकी पत्ती को घी में गर्म करके प्रसूता महिला को दिए जाने का पुराना रिवाज है, जिससे दूध की कमीं नहीं होती और जन्म के बाद भी कमजोरी और थकान का भी निवारण होता है। साथ ही बच्चा भी स्वस्थ रहता है और वजन भी बढ़ता है। मुनगा में पाए जाने वाला पर्याप्त कैल्शियम किसी भी अन्य कैल्शियम पूरक से कई गुना अच्छा है।

मुनगा में भरपूर पोषक तत्व, जो स्वस्थ रखने में सहायक
शिशुवती माता जानकी निराला कहती हैं, मुनगा फली हमारे घर के आंगन और खेत में लगी हुई है लेकिन उसके महत्व के बारे में हमें नहीं पता था। ग्राम में चल रहे राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान पौष्टिक आहार की जानकारी आंगनबाड़ी दीदी से मिली। उन्होंने बताया इसकी पत्तियों में प्रोटीन विटामिन बी 6, विटामिन सी, ए, ई, आयरन, मैग्नीशियम पोटेशियम, जिंक जैसे तत्व पाए जाते हैं। मुनगा में एंटी ऑक्सीडेंट बायोएक्टिव प्लांट कंपाउंड होते हैं। एक कप पानी में 2 ग्राम प्रोटीन होता है, यह प्रोटीन किसी भी प्रकार से मांसाहारी स्रोत से मिले प्रोटीन से कम नहीं है क्योंकि इसमें सभी आवश्यक एमीनो एसिड पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं।

पेंटिंग, स्लोगन व रंगोली से सुपोषण जागरूकता संदेश
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता करुणा सोनी ने बताया फिलहाल केंद्रों में केवल गर्म भोजन ही बांटा जा रहा है। ग्राम में सुपोषण के बारे में जागरूकता लाने के लिए स्कूली बच्चों के सहयोग से चित्रकारी, स्लोगन तथा रंगोली द्वारा संदेश बनवाए गए। व्हाट्सएप ग्रुप से भी पोषण से संबंधित जागरूकता संदेश दिए जा रहे हैं। ग्राम में सुपोषण चौपाल कृषक बैठक का भी आयोजन किया जा रहा है। सुपोषण चौपाल में पौष्टिक आहार से संबंधित जानकारियां दी जा रही हैं। साथ ही कार्यकर्ताओं को मूंगा, केला, आम, सब्जी-भाजी के पौधे एवं बीजों का वितरण भी किया जा रहा है। कोरोना संबंधित गाइडलाइन का पालन कर सभी गतिविधियां सम्पन्न की जा रही हैं। सुपोषण के बारे में जागरूकता लाने तथा बच्चों, महिलाओं को कुपोषण से बचाने के चित्रकारी, सुपोषण से संबंधित स्लोगन तथा रचनात्मक चित्रकारी से महत्व समझाया जा रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें