बस वालों की मनमानी शुरू:80 की जगह 150 रुपए तक वसूल रहे बस किराया

धमतरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डीजल के दाम बढ़ने के बाद बस मालिकों ने 40% किराया बढ़ाने की मांग के लिए हड़ताल की थी। बस संचालकों के दबाव में परिवहन मंत्री मो. अकबर ने किराया बढ़ाने का केवल आश्वासन ही दिया। बढ़ाया नहीं है, इसके बावजूद बस संचालकों ने लूट शुरू कर दी है। जिले में जितनी बसें उतने तरह का किराया वसूला जा रहा है।

रायपुर और कांकेर के 80 की जगह 120 से 150 रुपए तक किराया वसूली की जा रही है। टिकट नहीं दे रहे है। यात्रियों को ठूंस-ठूंस कर बसों में बैठाया जा रहा है। ये जानकारी आरटीओ को है लेकिन जांचने की फुर्सत नहीं है। लोग सोशल मीडिया पर बात रख रहे हैं। भास्कर टीम ने जब पड़ताल की, तो मनमर्जी किराया वसूली का खुलासा भी हुआ। कई लोगों ने अपनी व्यथा बताई।

कुरूद जाने ले रहे 45 रुपए
धमतरी से 23 किमी दूर कुरूद या कांकेर के चारामा के 45 रुपए किराया लिया जा रहे हैं। लाॅकडाउन से पहले तक कुरूद का किराया 20 से 25 रुपए व चारामा का 30 रुपए तक था। बड़ी बात यह कि टिकट पर यह किराया लिखकर भी नहीं दिया जाता है। इस कारण सवारियाें व कंडक्टराें में राेज बहस हाे रही है।

ऑटो और छोटी बसों में भी ज्यादा वसूली
ऑटो चालक और छोटी बस वाले भी मनमाने तरीके से किराया वसूल रहे है। शहर में करीब 500 ऑटो है। पहले बस स्टैंड से कलेक्टोरेट जाने का 15 रुपए था। अब 30 रुपए वसूल रहे है। इसी तरह छोटी बस के ऑपरेटर भी 10 रुपए तक ज्यादा किराया बढ़ाकर यात्रियों से अवैध किराया उगाही कर रहे है।

नरेश ट्रैवल्स ने लिया 150 रुपए किराया
धमतरी के जालमपुर निवासी मोहनीश पदमवार 6 अगस्त को रायपुर की नरेश ट्रेवल्स बस में रात 9.45 बजे बैठे। 150 रुपए किराया वसूला गया। टिकट देने से मना किया। विरोध किया तो टिकट दिया। बस में सीट खाली नहीं थी रायपुर से धमतरी तक 76 किमी का सफर बस में खड़े होकर किया।

रायपुर से आने के वसूले 120 रुपए
धमतरी के कोष्टापारा निवासी राजेंद्र स्वामी दुबे ट्रेवल्स में 6 अगस्त को दोपहर में रायपुर से धमतरी आए। 120 रुपए किराया वसूला। इन्होंने भी टिकट के लिए विरोध किया। कंडक्टर से बहस भी हुई। कंट्रोल रूम में फोन किया, पर कोई जवाब नहीं मिला। कोई कार्रवाई भी नहीं की गई।

लग्जरी बस वाले वसूल रहे ज्यादा किराया
इधर ज्यादा किराया वसूले जाने के बारे में जब जिला बस एसाेसिएशन के अध्यक्ष महावीर प्रसाद गुप्ता से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लग्जरी बस वाले निर्धारित रेट से ज्यादा किराया वसूल रहे है। मिनी बस में तो किराया ही नहीं निकल रहा, इसलिए 60 प्रतिशत बसें अभी भी सड़क पर नहीं उतरी है।

सीधी बात: गौरव साहू, परिवहन अधिकारी
सरकार ने किराया बढ़ाने आश्वासन दिया है, लेकिन बस ऑपरेटर मनमर्जी किराया वसूल रहे?

- किराया अभी बढ़ा नहीं है, पहले जो किराया था, वह किराया दर अभी भी लागू है।
रायपुर से धमतरी 120 से 150 रुपए वसूला जा रहा है, क्या सही है?
- निर्धारित दर से किराया ज्यादा लेना बिल्कुल भी सही नहीं है। कार्रवाई की जाएगी।
जांच और कार्रवाई क्यों नहीं हो रही?
- हमे टिकट के साथ शिकायत करें, उड़नदस्ता टीम तुरंत कार्रवाई करेगी। मैं खुद जाकर जांच भी करूंगा।

खबरें और भी हैं...