खतरा बढ़ा / बांसपारा बना जिले का चाैथा कंटेनमेंट जाेन, नाचन तालाब में नहाने पर राेक, 106 लोगों के लिए सैंपल

Chaitha Containment of Banspara District, Jain, Rake on Bathing in Nachan Pond, Sample for 106 People
X
Chaitha Containment of Banspara District, Jain, Rake on Bathing in Nachan Pond, Sample for 106 People

  • सर्दी-खांसी, बुखार व सांस लेने में तकलीफ वाले संदिग्धों के लिए सैंपल, स्वास्थ्य विभाग को 420 रिपोर्ट का इंतजार

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

धमतरी. गरियाबंद जिले के स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ बांसपारा के एक व्यक्ति के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद इसे जिले का चाैथा कंटेनमेंट जाेन घाेषित किया गया है। यहां माैजूद नाचन तालाब में नहाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। यहां संक्रमित मरीज को इलाज के लिए रायपुर एम्स भेजकर परिवार के अन्य सदस्यों को घर में ही क्वारेंटाइन किया है। 
घर-घर स्क्रीनिंग के दौरान सर्दी-खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ के 10 मरीज मिले। इन सभी का सैंपल जांच के लिए एम्स भेजा है। संक्रमित मरीज ने गोलबाजार से सब्जी खरीदी। एटीएम से रुपए निकाले थे इसलिए शहर में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 106 सैंपल जांच के लिए भेजे है। जिले की 420 सैंपल की रिपोर्ट का इंतजार है। 
भेलवाकूदा मुक्त, इधर बांसपारा की दुकानें बंद
भेलवाकूदा निवासी एम्स का गार्ड कोरोना संक्रमित मिलने के बाद गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। मंगलवार को प्रशासन ने इसे मुक्त किया। बांसपारा वार्ड कंटेनमेंट जोन घाेषित किया। इस वार्ड की सभी दुकानों को बंद कराया है। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर सभी प्रकार के वाहनों के आने-जाने पर प्रतिबंध है। निगरानी के लिए पुलिस पेट्रोलिंग हो रही। 

कार्रवाई के लिए अफसरों को दी गई जिम्मेदारी
बांसपारा वार्ड में सैनेटाइजिंग, जरूरी वस्तुएं उपलब्ध कराने निगम कमिश्नर आशीष टिकरिहा को जिम्मेदारी दी है। नायब तहसीलदार धमतरी चंद्रकुमार साहू को नोडल अधिकारी, काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग, मेडिकल ऑफिसर डाॅ. रचना डेकार्डे और स्वास्थ्य टीम को एमओपी अनुसार दवा, मास्क, पीपीई कीट व बाॅयो मेडिकल अपशिष्ट उपलब्ध कराने सहित अन्य को जिम्मेदारी दी गई है।

अब मेडिकल स्टोर्स में दर्ज होगा नाम, पता और मोबाइल नंबर 
सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे ने बताया कि शहर के सभी मेडिकल स्टोर्स में सर्दी-खांसी और बुखार की दवा लेने वालों की अलग सूची तैयार की जाएगी। ऐसे लोगों के नाम, पता और मोबाइल नंबर दर्ज होंगे। मरीज को किस डॉक्टर ने दवा लिखी है, वह भी शामिल किया जाएगा। डॉक्टर के बगैर पर्ची के पहुंचने वाले लोगों के लिए भी अलग रजिस्टर तैयार किया जाएगा। इनका पूरा रिकाॅर्ड मेडिकल स्टोर्स से स्वास्थ्य विभाग तक पहुंचेगा। टीम हर दूसरे दिन पहुंचकर ये डाटा कलेक्ट करेगी। इसके बाद किस हिस्से में सबसे अधिक शिकायत सर्दी, खांसी और बुखार की बनी हुई है, उसका विश्लेषण कर उन हिस्सों में सर्वे किया जाएगा। ऐसा काेरोना वायरस से बचाव के लिए किया जा रहा है।  
जिला अस्पताल की ओपीडी में भी बढ़ रहे मरीज
जिला अस्पताल की ओपीडी में वायरल फीवर के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ये मरीज शहर सहित आसपास के गांवों से भी आ रहे हैं। मंगलवार को सर्दी-खांसी व बुखार के 15 मरीज आए। सभी को अस्पताल से इलाज के बाद होम क्वारेंटाइन किया है। ये सभी 14 दिन के लिए क्वारेंटाइन रहेंगे।
ट्रू-नॉट मशीन आई, कोलकाता के इंजीनियर लगा कर रहे, 3 दिन बाद चालू होगी
कोरोना मरीजों की सैंपल टेस्टिंग में आ रही दिक्कतों को दूर करने धमतरी को एक ट्रू-नॉट टेस्टिंग मशीन मिल गई है। कोलकाता से आए इंजीनियर की टीम जिला अस्पताल के लैब में इस मशीन को चालू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यह मशीन चालू होने के बाद संक्रमित मरीज का सैंपल लेकर रिपोर्ट तुरंत देंगी। सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे ने बताया कि टीबी मुक्त अभियान के तहत टीबी मरीजों की जांच के लिए नई टेक्नोलॉजी की हाईटेक ट्रू-नॉट टेस्टिंग मशीन का उपयोग देश में शुरू हुआ है। इस टेस्टिंग मशीन में टीबी की जांच की जाती है। इससे जांच के लिए ट्रू-नॉट टेस्टिंग कैट्रीज चिप लगेगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना