धमतरी में 2 ज्वैलर्स से 1 करोड़ की चोरी:खंडहर से छत पर चढ़े फिर एक की दुकान और दूसरे के मकान में किया हाथ साफ; सिर्फ सोने के गहने और नकदी ले गए

धमतरी2 महीने पहले
ज्वैलर्स का कहना है कि दुकान बंद करने के बाद वह कैमरे भी बंद कर देते थे। इसके चलते चोरों की फुटेज भी नहीं मिल सकी है। 

छत्तीसगढ़ के धमतरी स्थित संकलेचा ज्वैलर्स और प्रवीण ज्वैलर्स से चोरों ने एक करोड़ के गहने और नगदी पार कर दी। आशंका है कि दुकान के पीछे मौजूद खंडहरनुमा मकान से चोर छत पर चढ़कर एक ज्वैलर्स के मकान में घुसे। वहां से सीढ़ी से नीचे बनी ज्वैलरी शॉप में पहुंचे। वहीं बगल में मौजूद एक और ज्वैलरी दुकान में भी चोरी करने घुसे, पर कामयाब नहीं हुए तो संचालक के मकान में ही हाथ साफ कर दिया। दोनों ज्वैलरी शॉप के संचालक दुकान के ऊपर ही रहते हैं। उन्हें चोरी का पता शनिवार सुबह चल सका।

जानकारी के मुताबिक, सिटी कोतवाली क्षेत्र के सदर बाजार में प्रवीण संकेलचा की प्रवीण ज्वैलर्स और केवघ संकलेचा की संकलेचा ज्वैलर्स के नाम से दुकान हैं। दोनों दुकानें अगल-बगल हैं। उनके संचालक परिवार सहित दुकान के ऊपर बने मकान में रहते हैं और आपस में रिश्तेदार हैं। केवघ संकलेचा के परिवार के लोग सुबह सोकर उठे तो देखा कि घर का सामान बिखरा पड़ा है। अलमारी में रखे करीब 35 लाख रुपए के गहने गायब हैं। इस पर उन्होंने इसकी जानकारी प्रवीण संकलेचा को दी।

केवघ संकलेचा के परिवार के लोग सोकर उठे तो देखा कि घर का सामान बिखरा पड़ा है।
केवघ संकलेचा के परिवार के लोग सोकर उठे तो देखा कि घर का सामान बिखरा पड़ा है।

प्रवीण दुकान में पहुंचे तो वहां शोकेस में रखे गहने गायब थे
चोरी का पता चलने पर प्रवीण ने घर में देखा तो सब ठीक था, लेकिन दुकान में घुसे तो देखा कि शोकेस में रखे सारे सोने के गहने गायब थे। चोरों ने चांदी के गहनों को हाथ भी नहीं लगाया था। बताया जा रहा है कि दुकान से करीब 600 ग्राम सोने के गहने और 5 लाख रुपए से ऊपर कैश गायब था। चोरी गए माल की कीमत करीब 60 से 70 लाख रुपए बताई जा रही है। हालांकि, अभी सही आंकलन नहीं हो सका है। दो ज्वैलर्स में चोरी की सूचना मिलते ही पुलिस अफसर भी मौके पर पहुंच गए।

ज्वैलर्स की दुकान के पीछे खंडहरनुमा मकान है। आशंका है कि चोर यहीं से छत पर चढ़े होंगे।
ज्वैलर्स की दुकान के पीछे खंडहरनुमा मकान है। आशंका है कि चोर यहीं से छत पर चढ़े होंगे।

मकान में CCTV नहीं, दुकान का भी कर देते थे बंद
ज्वैलर्स की दुकान के पीछे ही एक खंडहरनुमा मकान है। आशंका है कि चोर यहीं से छत पर चढ़े होंगे। इसके बाद केवघ संकलेचा के मकान में दाखिल हुए होंगे। दुकान में जाने का रास्ता नहीं मिला तो घर में ही चोरी कर ली। वहीं प्रवीण के घर से सीढ़ी के रास्ते दुकान में घुसे होंगे। दोनों ने अपने मकानों में CCTV कैमरा नहीं लगवा रखा है, लेकिन दुकानों में लगे हैं। ज्वैलर्स का कहना है कि दुकान बंद करने के बाद वह कैमरे भी बंद कर देते थे। इसके चलते चोरों की फुटेज भी नहीं मिल सकी है।

ज्वैलरी शॉप के संचालक दुकान के ऊपर ही रहते हैं, उन्हें चोरी का पता शनिवार सुबह चला।
ज्वैलरी शॉप के संचालक दुकान के ऊपर ही रहते हैं, उन्हें चोरी का पता शनिवार सुबह चला।

रायपुर से बुलाए गए फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और डॉग स्क्वॉयड
इतनी बड़ी चोरी की सूचना पर एसपी प्रफुल्ल ठाकुर, साइबर सेल प्रभारी भावेश गौतम, कोतवाली प्रभारी श्रीनाग, अर्जुनी थाना प्रभारी गगन वाजपेयी भी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। रायपुर से फिंगर प्रिंट और डॉग स्क्वॉयड बुलाया गया है। हालांकि, अभी तक की जांच में पुलिस को कोई फिंगर प्रिंट नहीं मिला है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। आशंका है कि चोरी करने वाले को पहले से ही घर और दुकान के संबंध में जानकारी थी। इसी के चलते उसने आसानी से दोनों जगह इतना बड़ा हाथ मारा है।

खबरें और भी हैं...