पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

योजना:स्कूलों में रसाेई के कचरे से जलेंगे चूल्हे, 2 गांवों में लग रहा है संयंत्र

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्री-फेब्रिकेटेड एफआरपी मॉडल से मिथेन गैस बनाने की तैयारी

धमतरी जिले के गाेठान व स्कूलों में बायोगैस संयंत्र क्रेडा विभाग द्वारा लगाया जा रहा है। इनसे मीथेन गैस बनेगी। इसका उपयाेग आंगनबाड़ी व स्कूल में भाेजन बनाने में किया जाएगा। क्रेडा विभाग प्री-फेब्रिकेटेड एफआरपी मॉडल के बायोगैस संयंत्र लगाने जा रहा है। इसमें रसाेई गैस के कचरे काे खपाया जाएगा।

प्री-फेब्रिकेटेड मॉडल में कचरा सड़ाकर इससे निकलने वाले मीथेन गैस से खाना पकाया जाएगा। इस मॉडल में गोबर से भी गैस भी बनाई जाएगी। इसके बाद निकलने वाली सामग्री का उपयाेग खाद के रूप में भी किया जा सकेगा। धमतरी जिले के कुरूद ब्लाॅक के दो गांवों में बायोगैस संयत्र लगाने का काम शुरू हो चुका है।

सुपेला और भेलवाकुदा में बायोगैस संयंत्र लगाया जा रहा है। पखवाड़ेभर में संयंत्र लग जाएगा। इस संयंत्र को लोग अपने घरों में भी लगा सकेंगे। इन गांवाें का किया गया चयन: धमतरी जिले में 12 गांवों का चयन किया गया है। इनमें 7 गांवों में प्री-फेब्रिकेटेड एफआरपी मॉडल लगाने की स्वीकृति मिली है। सभी स्थानों में प्रयोग के तौर पर एक-एक एफआरपी मॉडल बायोगैस संयंत्र लगाए जाएंगे।

धमतरी ब्लाॅक के परसतराई, बंजारी, लोहरसी, भटगांव, कुरूद ब्लाॅक के सुपेला, भेलवाकुदा, मड़ेली, अंवरी, मगरलोड ब्लाक के ग्राम परेवाडीह, नगरी ब्लॅाक के गुहाननाला, बरबांधा, चिंवरी का चयन हुआ है। एसटी, एससी परिवाराें काे मिलेगी 59 हजार तक सब्सिडी

क्रेडा विभाग के जिला प्रभारी कमल पुरैना ने बताया कि प्री-फेब्रिकेटेड एफआरपी मॉडल के बायोगैस संयंत्र को घरों में भी लगाया जा सकता है। इसकी लागत 80 हजार रुपए है। इसमें अलग-अलग वर्ग के लाेगाें काे 21 से 22 हजार रुपए तक देने हाेंगे। बाकी 58 से 59 हजार रुपए तक सब्सिडी मिलेगी। इसे लगाने पर 5 साल की वारंटी भी मिलेगी। लोग किचन वेस्ट, गोबर व अन्य पचने वाले सामान का उपयोग ईंधन के रूप में कर सकेंगे।

जिले के 137 गोठान में हो रही गोबर की खरीदी
जिले में 262 गोठान हैं, जिनमें से 137 गोठानों में गोबर की खरीदी की जा रही है। यहां गोबर से खाद बनाई जा रही है। खाद बनाने के दौरान निकलने वाली मिथेन गैस का उपयोग नहीं हो पा रहा। क्रेडा द्वारा इस ईंधन का उपयोग करने के लिए गाेठानों में 2-2 घन मीटर की क्षमता वाला गोबर गैस प्लांट लगाया जा रहा है। प्लांट के गैस का उपयोग आसपास के स्कूल और आंगनबाड़ी में बच्चों के लिए भोजन पकाने में किया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें