पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुविधा:जिला अस्पताल में हाई बीपी की दवा देने क्लीनिक शुरू

धमतरी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एनपीसीडीसीएस कार्यक्रम के तहत आइएचसीआई (इंडियन हाइपरटेंशन कंट्रोल इनिशिएटिव) योजना सोमवार को शुरू हुई। इसकी शुरुआत सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे ने की। उन्होंने एनसीडी क्लीनिक में मरीजों को बीपी पासपोर्ट कार्ड दिया। डॉ. तुर्रे ने बताया कि बीपी की दवाइयां नियमित खानी है। डॉक्टर की सलाह के बिना दवा बंद नहीं करना है। बीपी की जांच जरूर करानी है। यदि उच्च रक्तचाप को नियंत्रित नहीं किया गया, तो हाई बीपी की वजह से हार्ट अटैक अथवा स्ट्रोक के कारण पैरालिसिस हो सकता है।

उन्होंने कहा कि 2025 तक उच्च रक्तचाप से होने वाली मौतों पर 25 फीसदी तक कमी करना इस योजना का उद्देश्य है। हाई बीपी के मरीजों को 25 फीसदी तक कंट्रोल करने का लक्ष्य है। इसके लिए उच्च रक्तचाप के मरीजों को बीपी पासपोर्ट कार्ड दिया जाएगा, जिससे फॉलोअप के दौरान उनका बीपी कंट्रोल में है या नहीं पता चलेगा। उद्घाटन अवसर पर राज्य कार्यक्रम समन्वयक डॉ. सुमी जैन, डब्ल्यूएचओ के राज्य कार्डियो वैस्कुलर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. उर्विन शाह, सिविल सर्जन डॉ. एसएमएम मूर्ति सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...