पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वारदात:कारीदेव जंगल में 200 मीटर तक बिखरे मिले शव के टुकड़े, हाथी ने मारा या हत्या हुई इस पर विवाद

धमतरी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्षेत्र में एक माह से डटा है चंदा हथिनी का दल इसलिए आशंका कि युवक को हाथियों ने कुचला

गुरुवार सुबह सोरम के पास कारीदेव जंगल में एक व्यक्ति की क्षत-विक्षत लाश मिली। इसके टुकड़े आसपास के क्षेत्र में 200 मीटर तक फैले हुए थे। यहीं पर बाइक भी पड़ी थी। विश्रामपुर के गांव वालों का कहना है कि हाथी ने मारा है जबकि वन विभाग अफसरों ने प्रमाण नहीं मिलने के कारण ऐसा होने से इंकार किया। पुलिस अफसरों ने भी हत्या से इंकार करते हुए हाथी द्वारा मारने की बात कही। इसके बाद कारीदेव में विवाद हो गया। गांव वाले भड़क गए। वन विभाग के अफसरों को घेर लिया। समझाइश के बाद मामला शांत हुआ। अब मौत का कारण जानने के लिए फोरेंसिंक जांच कराई जाएगी। रिपोर्ट आने पर तय होगा कि मौत का कारण हाथी द्वारा मारा जाना है या हत्या की गई है। शव की पहचान विश्रामपुर निवासी संजू मंडावी 40 साल पिता रामाधार मंडावी के रूप में हुई है। वह मजदूरी का काम करता था।
जानकारी के मुताबिक रूद्री थाना क्षेत्र के सोरम, खिड़कीटोला रोड पर गुरुवार की सुबह घूमने के लिए लोग निकले थे। उन्होंने कारी देव स्थल के पास एक बाइक गिरी हुई देखी। पास ही मांस के लोथड़े नजर आए। कुत्ते भी आसपास मौजूद थे। हाथी द्वारा कुचल कर मारने की आशंका में सूचना वन विभाग को दी गई। वन विभाग के रेंजर महादेव कन्नौजे ने लाश मिलने की सूचना रूद्री टीआई युगल किशोर नाग और डीएफओ सतोविशा समाजदार को दी। सूचना मिलने पर टीआई पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तो बाइक के पास शव के कुछ टुकड़े पड़े हुए थे। आसपास ढूंढा गया तो 200 मीटर के दायरे में शव के टुकड़े मिले। गांव के लोगों की मदद से एकत्रित किया। बाइक पड़ी होने व लाश मिलने की सूचना आसपास दी गई।
कई जगह हैं घसीटने के निशान: बीते एक महीने से चंदा हथिनी दल इसी क्षेत्र में है। इसीलिए गांव के लोग कुचलने से मौत की आशंका जता रहे हैं। मृतक के पिता रामाधार मंडावी ने बताया कि इस क्षेत्र में हाथी का दल है। कई जगह घसीटने के निशान हैं। हाथी पांव के निशान हैं और कुछ ही मीटर दूर पर हाथी का जमावड़ा है। हाथी के कुचलने से ही मौत हुई है।

डीएफओ ने हाथी द्वारा मारने से इंकार किया
घटना स्थल पर कुछ स्थानों पर घसीटने के निशान नजर आए। खबर फैलते ही भीड़ एकत्रित हो गई। लोग हाथी के कुचलने से ही मौत की आशंका जाहिर करने लगे। डीएफओ समाजदार ने हाथी के कुचलने से मौत से इंकार किया। इसके बाद गांव के लोग भड़क गए। मौके पर विवाद करने लगे। सूचना कलेक्टर जेपी मौर्य को मिली तो उन्होंने जांच के लिए एसडीएम मनीष मिश्रा को भेजा।

हाथी मारे तो इस हालत में नहीं होते शव
डीएफओ सतोविशा समाजदार ने मौके पर शव, पैरों के निशान, घसीटने की जगह को देखने के बाद ग्रामीणों से कहा कि हाथी इस प्रकार से किसी के साथ घटना नहीं करता है। बालोद और गरियाबंद में जो हाथी दल द्वारा दो लोगों की मारे जाने की जो घटना हुई है, उसमें पैर से कुचलने के निशान थे। कोई भी शव क्षत-विक्षत दूर दूर तक नहीं फैला रहता। इसी दौरान गांव के लोग भड़क गए। वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। वाहन को घेर लिया। बीटगार्ड तिवारी को ग्रामीण सामने लाने और उस पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। डीएफओ ने स्थिति संभाली। बताया कि यदि हाथी होता है तो वहां पर मल और पद चिन्ह जरूर मिलते हैं। यहां न है न पद चिन्ह है। इस हाथी के झुंड में कोई दंतेल नहीं है। याने किसी हाथी के पास कोई धारदार वस्तु नहीं है जिससे ऐसा काटा जा सके कि हड्डी भी बाहर आ जाए। फोटो लेकर एक्सपर्ट को भेजे रहे हैं। एक्सपर्ट लिखित में दे दें कि जिस हाथी के दांत नहीं है, वह भी इस तरह शरीर को काट सकता है तो विभाग मानने के लिए तैयार है। डीएफओ लोगों के आक्रोश के बावजूद मौजूद रहीं। जगह से नहीं हटीं।

गजराज से जाएंगे विद्यार्थी
डीएफओ ने ग्रामीणों की मांग पर आश्वस्त किया है कि हाथी दल के इस क्षेत्र में रहने तक क्षेत्र के विद्यार्थियों को वन विभाग के गजराज वाहन से भटगांव-धमतरी तक लाना ले-जाना किया जाएगा। वाहन में किसी के पालक भी मौजूद रहेंगे।

हाथी ने मारा होगा तो दिया जाएगा मुआवजा
कलेक्टर जेपी मौर्य ने विशेषज्ञ चिकित्सकों के दल को अपनी रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि यदि जांच रिपोर्ट में जंगली हाथी द्वारा व्यक्ति के मारे जाने की पुष्टि होती है, तो नियमानुसार जल्द से जल्द मुआवजा भी जरूर दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें