पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक में फैसला:2 दिन विसर्जित होंगी प्रतिमाएं, डीजे-धुमाल की मिली अनुमति, गणेश स्थापना के दूसरे दिन कलेक्टर ने गणेशोत्सव के लिए जारी किए थे गाइडलाइन

धमतरी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिला प्रशासन के साथ गणेशोत्सव समिति पदाधिकारियों की बैठक हुई। - Dainik Bhaskar
जिला प्रशासन के साथ गणेशोत्सव समिति पदाधिकारियों की बैठक हुई।
  • श्रीराम हिंदू संगठन में था प्रशासन के खिलाफ गुस्सा

गणेशोत्सव में गणेश स्थापना के दूसरे दिन कलेक्टर पीएस एल्मा ने गाइडलाइन जारी की थी। डीजे, धुमाल पर रोक लगाने के निर्देश से श्रीराम हिन्दू संगठन के लोगों में प्रशासन के खिलाफ खूब गुस्सा था। गणेश उत्सव समिति के लोग भी प्रशासन से नाराज थे।

जिला प्रशासन को घेरने की तैयारी थी, इसके पहले मंगलवार देर-शाम को एसडीएम ने श्रीराम हिंदू संगठन और गणेशोत्सव समितियों की बैठक बुलाई। करीब 1 घंटे प्रशासनिक अफसरों ने बैठक ली। गणेशोत्सव समिति के पदाधिकारियों से चर्चा की। तीखी बहस भी हुई। इसके बाद फैसला हुआ कि गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन 20 और 21 सितंबर 2 दिन किया जाएगा। इस दौरान डीजे, धुमाल बजाने की अनुमति दी गई। साथ ही कोरोना गाइडलाइन का सख्त पालन करने अफसरों ने समिति पदाधिकारियों को चेताया है।

कलेक्टर को घेरने की थी तैयारी

श्रीराम हिन्दू संगठन के पदाधिकारी कलेक्टर पीएस एल्मा को घेरने की तैयारी कर रहे थे। इस संबंध में 13 सितंबर को दोपहर 2 बजे मकई गार्डन में शहर के गणेश उत्सव समिति के पदाधिकारियों की बैठक भी हुई। घंटेभर की बैठक के बाद श्रीराम हिंदू संगठन के बैनरतले कलेक्टर को ज्ञापन देने कलेक्टोरेट गए। कलेक्टर नहीं मिले। फिर सोशल मीडिया में आक्रोश जताया। एसडीएम चंद्रकांत कौशिक ने उनसे बात की। 14 सितंबर को बैठक करने की सहमति बनीं।

बैठक के ये सारे अफसर मौजूद

मंगलवार को बैठक दोपहर 12 बजे होनी थी, लेकिन भारी बारिश के कारण बैठक शाम करीब 5 बजे हुई। 6.15 बजे तक बैठक ली। एसडीएम चंद्रकांत कौशिक, कोतवाली टीआई नवनीत पाटिल, डीएसपी अरुण जोशी की उपस्थिति में चर्चा की गई। श्रीराम हिन्दू संगठन के पदाधिकारी व सदस्यों ने अपनी बातें रखीं। बैठक में धमतरी के सभी गणेश उत्सव समिति, डीजे और धुमाल संचालक शामिल हुए।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का करना होगा पालन

एसडीएम चंद्रकांत कौशिक ने बताया कि गणेश प्रतिमा का विसर्जन 20 व 21 सितंबर 2 दिन होगा। प्रशासन की टीम सहयोग करेगी। समितियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि डीजे, धुमाल बजाते समय सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का पालन करना होगा। झांकी निकालने की शर्त पर कोरोना गाइडलाइन का पालन भी अनिवार्य है। महिलाओं की सुरक्षा का भी ध्यान रखने कहा गया है। नियम तोड़ने पर कार्रवाई भी करेंगे।​​​​​​​​​​​​​​

खबरें और भी हैं...