पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जेठ में बादलों का घूंघट:हफ्तेभर से छा रहीं घटाएं मगर बारिश नहीं

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आषाढ़ में आने वाला मानसून इस साल जेठ का महीना आधा बीतने से पहले ही आ गया है। इसके आने पर बारिश भी हुई। इसके बाद से आंखमिचाैली कर रहा है मानाे गांवाें में जेठ (पति के बड़े भाई) से हाेने वाले पर्दे की तरह बारिश जेठ में घूंघट कर रही हाे। हर राेज काली, नीली घटाएं भी छा रहीं हैं। बस बारिश नहीं हाे रही है।

मानसून ने अनुमानित तारीख से 4 दिन पहले 9 जून को आ गया। आने पर खूब बरसा। इसके बाद बारिश रुकी हुई है। आसमान पर काली घटाएं छा रहीं। चारों ओर बारिश का सिस्टम भी बन रहा है। बस बारिश नहीं हाे रही जबकि बारिश के लिए 4 सिस्टम बने हैं।

24 घंटे में 14.4 मिमी वर्षा
24 घंटे में जिले में 14.4 मिमी बारिश हुई। मगरलोड व भखारा में 1-1 इंच बारिश हुई है। धमतरी में 10.2 मिमी, कुरूद में 16.6 मिमी और कुकरेल में 1.3 मिमी बारिश हुई। नगरी सूखा रहा। 1 जून से 18 जून तक 187.2 मिमी बारिश हुई है।

हल्की बारिश के आसार
मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने बताया 19 जून को धमतरी सहित अन्य जिलों में हल्की से मध्यम बारिश व तेज गर्जना की संभावना है। पंचांग के मुताबिक 22 जून काे दाेपहर बाद अाद्रा नक्षत्र लगा रहा है। इसमें तेज बारिश के संयाेग हैं।

खबरें और भी हैं...