पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:करेली बड़ी रेत खदान बंद कराने पर अड़े, कलेक्टर एसपी ने डेढ़ घंटे तक मनाया, नहीं माने गांव के लाेग

मगरलोड/धमतरी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • करेली बड़ी के ग्रामीण रेत खदान बंद कराने कर रहे प्रदर्शन, पहले भी ग्रामीणों की एकजुटता से बंद करना पड़ी थी शराब दुकान

करेली बड़ी के ग्रामीण रेत खदान को बंद कराने लगातार तीसरे दिन प्रदर्शन कर धरनास्थल पर डटे रहे। प्रदर्शन स्थल पर पुरुषों से ज्यादा महिलाओं की भागीदारी है। सोमवार को ग्रामीणों को समझाने कलेक्टर जेपी मौर्य और एसपी बीपी राजभानू पहुंचे। अफसरों ने ग्रामीणों से डेढ़ घंटे तक चर्चा की, लेकिन बीच का रास्ता नहीं निकला। ग्रामीण और अफसर अपनी-अपनी बात पर अड़े रहे। अफसरों को वापस लौटना पड़ा।
रेत खदान बंद कराने करेली बड़ी के ग्रामीणों ने 19 फरवरी को कलेक्टर जनदर्शन में आवेदन दिया। 20 फरवरी से ग्रामवासियों ने सत्यनारायण मंदिर के पास धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिला प्रशासन के समस्त अधिकारी 22 फरवरी को करेली बड़ी गए। धरनास्थल पर ग्रामीणों से बात की। हालांकि दाेनाें पक्ष अपनी बात पर कायम रहे। रेत खदान बंद कराने से कम पर गांव के लाेग मानने के लिए तैयार नहीं हैं। कलेक्टर जेपी मौर्य, एसपी बीपी राजभानू, एसडीएम योगिता देवांगन, खनिज अधिकारी सनत साहू सरपंच, पंच, ग्रामीण अध्यक्ष, पदाधिकारी के साथ ग्राम पंचायत में बैठक हुई। प्रशासनिक सुझाव पर चर्चा हुई। इसमें ग्रामीणों को एक बार और विचार करने कहा गया है।
बंद करनी पड़ी थी शराब दुकान: करेली बड़ी के ग्रामीण गांव की सार्वजनिक हित में एकजुट होकर लड़ाई लड़ते आ रहे है। इसके पहले भी करेली बड़ी के ग्रामीण शराब दुकान को बंद कराने का प्रदर्शन किया था। ग्रामीणों ने एकजुट होकर शराब दुकान बंद कराने की मांग की। प्रशासन को नियम कानून दरकिनार कर शराब दुकान बंद करना पड़ी थी। अब ग्रामीण रेत खदान बंद कराने कामकाज बंद कर आंदोलन कर रहे है।

कलेक्टर बोले- नियम के तहत संचालित होगी खदान
कलेक्टर जेपी मौर्य ने कहा कि शासन के निर्देशानुसार रेत खदान का टेंडर हुआ है। आगे भी नियम के तहत ही यहां पर रेत निकाली जाएगी। कलेक्टर का यह बात सुनकर ग्रामीण नारेबाजी करने लगे। ग्रामीण किसी भी स्थिति में रेत खनन नहीं हाेने देने की मांग पर अड़े हुए हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि ठेकेदार द्वारा चैन माउंटेन मशीन से रेत खनन कर परिवहन किया जा रहा था। ठेकेदार के माइनिंग एक्ट के नियम कानून का उल्लंघन किया जा रहा है।

ग्रामीण जो फैसला लें, मंजूर है: सरपंच
करेली बड़ी सरपंच डोमर सिंह साहू ने कहा कि सोमवार को कलेक्टर और एसपी धरना प्रदर्शन स्थल पर आए थे। उन्होंने नियम के तहत रेत खनन कराने और प्रदर्शन खत्म करने कहा, लेकिन ग्रामीणों ने प्रदर्शन बंद करने पर कोई फैसला नहीं लिया है। ग्रामीण जो फैसला लेंगे मुझे मंजूर है। प्रदर्शन आगे जारी रहेगा या खत्म होगा, इस संबंध में फिलहाल मैं कुछ नहीं कहूंगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें