पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

15 मई तक जिला लॉक:लॉकडाउन 3.0, सब्जी बाजार बंद ही रहेंगे रविवार को पूरी तालाबंदी

धमतरी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लॉकडाउन के बावजूद सुबह युवा बेवजह घूम रहे है। 3 दिन में 195 लोगों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की। - Dainik Bhaskar
लॉकडाउन के बावजूद सुबह युवा बेवजह घूम रहे है। 3 दिन में 195 लोगों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की।
  • कल से सुबह 8 से शाम 5 बजे तक खुलेंगी किराना दुकानें

सख्त लॉकडाउन 5 मई की रात 12 बजे से समाप्त हो जाएगा, लेकिन आंशिक लॉकडाउन 15 मई तक रहेगा। शासन द्वारा अपने जिलाें की स्थिति काे देखते हुए लॉकडाउन करने या न करने की जिम्मेदारी कलेक्टरों को देने के बाद यह निर्णय लिया गया है।

कलेक्टर जेपी मौर्य ने इस संबंध में मंगलवार रात आदेश भी जारी कर दिए हैं। इसमें किराना दुकान, डेयरी को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक खोलने की छूट मिलेगी। सब्जी दुकानें नहीं लगेंगी। केवल ठेले या अन्य वाहनों पर ही सब्जी बेचने की छूट रहेगी। शासकीय कार्यालयों में आधे कर्मचारियों के साथ काम होगा। बैंक भी सुबह 11 से शाम 5 बजे तक खुलेंगे लेकिन इनमें भी लेन देने के प्रतिबंध पहले की तरह लागू रहेंगे। रविवार को टोटल लॉकडाउन रहेगा।

अब 15 मई तक जिले में यह पाबंदियां
बाजार: किराना, जनरल स्टोर्स, सब्जी, फल की दुकानें, पशु आहार व कृषि से संबंधित दुकानें 8 से शाम 5 बजे तक खुलेंगे। शराब दुकानें पूरी तरह बंद ही रहेंगी।
परिवहन: निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा व रिक्शा नहीं चलेंगे। केवल आपात मेडिकल सेवा और जरूरी वस्तुओं के परिवहन की छूट है।

लॉकडाउन के 22 दिन में 8844 केस, 233 मौत
लॉकडाउन के दौरान 12 अप्रैल से 3 मई तक 22 दिन में 25552 की कोरोना जांच हुई है। इनमें से 8844 संक्रमित मिले हैं, जबकि 233 की मौत हो गई। 34.61% की दर से संक्रमण मिल रहा है। इस दौरान मृत्यु दर भी 2.63 प्रतिशत है। 22 दिन में 4581 मरीज स्वस्थ हुए।

लॉकडाउन 3.0; कलेक्टर ने जारी किया आदेश

  • सब्जियां ठेलों पर ही घूम-घूमकर बेच सकेंगे लोग
  • इलेक्ट्रिशियन, प्लम्बर, एसी, कूलर, पंखा सुधारने वाले घर पहुंच सेवा देंगे
  • पोल्ट्री, अंडा, मीट, मछली और डेयरी दुकानें सुबह 8 से शाम 5 तक खुलेंगी

धार्मिक, पर्यटन, शादी व मृत्यु पर ये नियम लगेंगे

  • मंदिरों में सिर्फ पूजा की जा सकेगी। बाहरी के प्रवेश पर रोक जारी रहेगी। मस्जिदों में समूह में नमाज पढ़ने पर रोक जारी रहेगी।
  • अंतिम संस्कार में अधिकतम 10 को की छूट दी गई है।
  • शादी में दोनों पक्ष मिलाकर अधिकतम 20 लोग होंगे।
  • धार्मिक, सांस्कृतिक और पर्यटन स्थल से संबंधित सभी गतिविधियां, होटल, रिसार्ट बंद।

कुछ पापंदी के साथ खुलेंगे बैंक
बैंक में 11 बजे से 5 बजे तक सभी व्यवसायिक काम हाेंगे। शाखा में 1 लाख से कम निकासी नहीं होगी। रजिस्ट्री कार्यालय खुलेंगे पर आधे कर्मचारी होंगे। कुरियर सेवाएं 8 से 5 बजे तक।

लॉकडाउन के 22 दिन में 8844 केस, 233 मौत
लॉकडाउन के दौरान 12 अप्रैल से 3 मई तक 22 दिन में 25552 की कोरोना जांच हुई है। इनमें से 8844 संक्रमित मिले हैं, जबकि 233 की मौत हो गई। 34.61% की दर से संक्रमण मिल रहा है। इस दौरान मृत्यु दर भी 2.63 प्रतिशत है। 22 दिन में 4581 मरीज स्वस्थ हुए।

इधर फिर 13 मरीजों की मौत, 565 मरीज मिले
मंगलवार को 565 संक्रमित मिले हैं। 13 मरीजों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा मरीज नगरी ब्लॉक से 167 मिले हैं। इनमें धमतरी ग्रामीण से 121, कुरूद से 99, मगरलोड से 59 और शहर से 120 मरीज हैं। मई के 4 दिन में 1695 मरीज मिले हैं, जबकि 54 मरीज की मौत हो गई।

ये नियम लागू ही रहेंगे

  • थोक सब्जी, फल-सब्जी मंडी सुबह 6 से 10 बजे तक खुलेंगी। थोक मंडी से केवल चिल्हर व्यापारी ही सामान खरीदेंगे। सब्जी बाजार बंद ही रहेंगे। चिल्हर सब्जी व्रिकेताओं को घूम-घूमकर सब्जी बेचने की अनुमति है। किसी भी जगह पर 10 मिनट से ज्यादा समय तक नहीं रुकेंगे।
  • मेडिकल दुकान, पेट्रोल पंप प्रतिबंध से मुक्त हैं। गैस डिलेवरी सुबह 10 से शाम 5 बजे तक।

लॉकडाउन 3.0 में इन सेवाओं को छूट

  • इलेक्ट्रिशियन, प्लम्बर, एसी, कूलर, पंखा, सेनिटरी फिटिंग मरम्मत वाले घर पर ही सेवा देंगे।
  • ऑटा चक्की तथा फ्लोर मिल सुबह 8 से 5 बजे तक खुलेंगी।
  • पोल्ट्री, अंडा, मीट, मछली, डेयरी से संबंधित दुकानें सुबह 8 से शाम 5 बजे तक खुलेंगी।
  • खाद, बीज, कीटनाशक, कृषि संबंधित की बिक्री और मरम्मत की दुकान 8 से शाम 5 बजे तक।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें