पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत भरी खबर:बांधों में 1 लाख हेक्टेयर से ज्यादा जमीन सींचने के लिए भरा है पानी

धमतरी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिंचाई के लिए जरूरत पड़ने पर जिले के बांधों से छोड़ेंगे पानी

जिले के बांधाें में भरपूर पानी आ गया है। भिलाई स्टील प्लांट, नगर निगम व रायपुर के लिए आरक्षित पानी के अलावा इतना पानी है कि एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा जमीन सींची जा सकती है। जरूरत पड़ने पर खरीफ धान में पानी दिया जाएगा। यह निर्णय जल उपयाेगिता समिति की बैठक में मंगलवार काे हुआ। कलेक्टर एमके माैर्य की माैजूदगी में यह बैठक कलेक्टाेरेट सभाकक्ष में हुई।  बैठक में बताया कि महानदी परियोजना के बाधों में उपलब्ध 785 मिलियन घन मीटर उपयोगी जल से खरीफ सिंचाई के लिए एक लाख चार हजार 951 हेक्टेयर क्षेत्र में पानी दिया जा सकता है। इससे धमतरी जिले में 87 हजार हेक्टेयर क्षेत्र तथा बालोद जिले के 17 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकती है।  बैठक में जल प्रबंध संभाग रुद्री के कार्यपालन अभियंता उमाकांत रामटेककर ने बताया कि महानदी परियोजना के बाधों की कुल जल भराव क्षमता 1562.59 मिलियन घन मीटर है। इसमें उपयोगी जल भराव क्षमता 1393.12 मिलियन घन मीटर है। फिलहाल 785 मिलियन घन मीटर उपयोगी जल है। इसमें से  लिए 415 मिलियन घन मीटर आरक्षित रहता है। बाकी बचे  370 मिलियन घन मीटर पानी से खरीफ सिंचाई की जा सकती है। बैठक में निर्णय लिया गया है कि खरीफ मौसम में किसानों द्वारा मांग किए जाने पर कुल प्रस्तावित 1,04,951 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी दिया जाएगा। इस मौके पर विधायक धमतरी रंजना साहू, सिहावा विधायक के प्रतिनिधि के रूप में शरद लोहाणा सहित जिला जल उपयोगिता समिति के अन्य सदस्य एवं अधिकारी मौजूद रहे। रायपुर निगम, भिलाई तक दिया जाता है पानी: गंगरेल बांध से भिलाई स्टील प्लांट के लिए 68 मिलियन घन मीटर, भिलाई पाॅवर प्लांट के लिए 17 मिलियन घन मीटर, भिलाई नगर निगम के लिए 23 मिलियन घन मीटर के अलावा निस्तारी के 85 मिलियन घन मीटर, रायपुर नगर निगम में पेयजल के लिए 105 मिलियन घन मीटर, धमतरी नगर निगम में सात मिलियन घन मीटर दिया जाता है। यह सुरक्षित रखा जाता है। वाष्पण एवं रिसाव करीब  56 मिलियन घनमीटर तथा मुरूमसिल्ली, दुधावा एवं सोंढूर बांध में जल की आवश्यकता 56 मिलियन घनमीटर को आरक्षित रखा जाएगा। बाकी पानी का उपयोग खरीफ सिंचाई के लिए किया जाएगा।

गंगरेल में 51 प्रतिशत है उपयोगी पानी
रविशंकर सागर गंगरेल बांध में कुल जल भराव क्षमता 910.50 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध उपयोगी जल भराव क्षमता 767 मिलियन घनमीटर है। वर्तमान में इसमें 51 प्रतिशत 391 मिलियन घनमीटर उपयोगी पानी है। इसी तरह 165.34 मिलियन घन मीटर जल भराव क्षमता वाले मुरूमसिल्ली बांध में उपयोगी जल भराव क्षमता 162 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध 61 मिलियन घन मीटर अर्थात 56 प्रतिशत उपयोगी पानी है। दुधावा जलाशय में 68 प्रतिशत 193 मिलियन घन मीटर उपयोगी पानी है। इसकी कुल जल भराव क्षमता 288.65 मिलियन घन मीटर के विरूद्ध उपयोगी जल भराव क्षमता 284.12 मिलियन घन मीटर है। इसके अलावा सोंढूर जलाशय, जिसकी कुल जल भराव क्षमता 198.10 मिलियन घन मीटर है। इसकी उपयोगी जल भराव क्षमता 180 मिलियन घन मीटर है। इसमें 78 प्रतिशत अर्थात 140 मिलियन घन मीटर जल उपलब्ध है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें