पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नीट के नतीजे:प्रांजल राज्य में नीट टॉपर, देश में 90वीं रैंक, बोले- लॉकडाउन में सिर्फ पढ़ा

धमतरी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • धमतरी शहर के रहने वाले प्रांजल को 720 में से 700 अंक मिले
  • दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई करने की मंशा

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) का रिजल्ट शुक्रवार को जारी हुआ। इस बार रायपुर, दुर्ग, भिलाई और बिलासपुर जैसे शहरों के छात्रों को पछाड़कर धमतरी का प्रांजल उपाध्याय छत्तीसगढ़ का टॉपर बना है। प्रांजल ने 720 में से 700 अंक हासिल कर देश में 90वीं रैंक हासिल की है। उन्होंने कोरोनाकाल के 6 महीने को अवसर बनाकर लॉकडाउन में खूब तैयारी की। प्रांजल भिलाई में नानी के साथ रहते हैं। उनकी मंशा दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई करने की है।

प्रांजल उपाध्याय कक्षा 11वीं से ही नीट की तैयारी में लग गए थे। स्कूल के बाद कोचिंग फिर घर आकर करीब 5 घंटे की पढ़ाई करते थे। 11वीं व 12वीं उत्तीर्ण होने के बाद कोरोना के कारण लॉकडाउन लग गया। पढ़ाई का भरपूर मौका मिला। प्रांजल ने पिता डॉ. रौशन उपाध्याय और माता डॉ. रश्मि उपाध्याय से मार्गदर्शन लेकर खूब पढ़ाई की। 2018 में सीबीएसई 10वीं में भी प्रांजल जिले में टॉपर थे।

एकाग्रता के लिए खेलते व योग करते रहे प्रांजल

जिले के टॉपर प्रांजल उपाध्याय ने भास्कर को बताया कि पढ़ाई के लिए रुचि और एकाग्रता दोनों जरूरी है। कभी पढ़ाई में मन न लगे, दिमाग भटके, तो वह माता-पिता के साथ समय बिताता था। उन्होंने बताया कि विद्यार्थी के जीवन में मानसिक सपोर्ट की सबसे ज्यादा जरूर होती है, जो माता-पिता ने पूरी की। छत्तीसगढ़ में टॉप करूंगा ऐसी उम्मीद नहीं थी।

बस पिता के बताए मार्गदर्शन पर चलते हुए उनके सपनों को पूरा किया। उन्होंने छात्रों को संदेश दिया कि कोरोना के कारण समय का उपयोग करें। नियमित रूप से ऑनलाइन पढ़ाई करें। छात्रों के जीवन में माता-पिता का सहयोग काफी महत्वपूर्ण है। मन में यदि किसी भी प्रकार की मानसिक समस्या है, तो उसे छुपाना नहीं चाहिए, बल्कि अपने परिवार के साथ साझा करनी चाहिए।

भेलवाकुदा के विवेक की 4198वीं रैंक

जिले के भखारा इलाके के भेलवाकुदा निवासी विवेक साहू ने भी नीट की परीक्षा पास की है। विवेक साहू को 720 में 648 अंक मिले है। वे देशभर में 4198वीं रैंक पर हैं। विवेक स्कूल के समय से ही प्रतिभाशाली छात्र रहे हैं। 12वीं की परीक्षा भी मैत्री विद्यालय रिसाली से अच्छे अंकों से पास किया।

उन्होंने दूसरे प्रयास में नीट की परीक्षा पास ककी है। विवेक के पिता डुमेश्वर साहू शिक्षक है। जबकि माता नूतन साहू गृहणी है। विवेक की इस उपलब्धि पर ग्रामीणों सहित शिक्षकों ने खुशी जताई और कहा कि देश में डॉक्टर्स की बहुत ज्यादा जरूरत है। विवेक भी डॉक्टर बनकर देश की सेवा करेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें