लापरवाही / शहर के एटीएम में सैनिटाइजर ही नहीं, जहां रखे थे वहां भी खत्म

Not only sanitizers in the ATMs of the city, but also where they were kept
X
Not only sanitizers in the ATMs of the city, but also where they were kept

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 05:00 AM IST

धमतरी. कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए अप्रैल में जिले के बैंकों ने सैनिटाइज व हाथ धोने की व्यवस्था की थी। सैनिटाइजर खत्म होने के बाद बैंक अफसरों ने ध्यान नहीं दिया है। कई एटीएम तो ऐसे मिले जहां सैनिटाइजर व साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था ही नहीं है। शाखा प्रबंधक भी इस पर ध्यान नहीं दे रहे। धमतरी जिले में दो कोरोना पॉजीटिव मरीज मिल चुके हैं। पुष्टि होने के बाद कंटेनमेंट जोन में सभी दुकानें व बैंक बंद करा दिए। बैंक तो बंद हो गए, पर एटीएम अब भी खुले हैं, जहां संक्रमण रोकने के लिए व्यवस्था नहीं है।
कंटेनमेंट जोन समेत शहर के 20 एटीएम की पड़ताल की गई, तब तीन एटीएम में ही सैनिटाइज करने के लिए बैंक प्रबंधक ने व्यवस्था की थी, इसके अलावा जिले के किसी भी एटीएम में सैनिटाइजर नहीं थे। बैंक खुलने के दौरान बैंक में प्रवेश के पहले हाथ धुलवाया जाता है, बैंक बंद होने के बाद एटीएम में हाथ धोने की व्यवस्था नहीं रहती। जिले के अधिकांश एटीएम नेशनल हाईवे पर हैं। 
हाईवे से धमतरी के अलावा बालोद, कांकेर, दुर्ग, रायपुर जिले में लोगों का आना-जाना लगा रहता है। लोग कैश निकालने के लिए एटीएम में जाते हैं। सैनिटाइज करने की व्यवस्था नहीं होने पर ऐसे ही हाथों से स्क्रीन को टच करते हैं। इसके चलते कभी भी संक्रमण फैल सकता है। 
बैंक चार्ज वसूलता है, व्यवस्था करें
एटीएम में कैश निकालने पहुंचे सतीश साहू, विजय कुमार ने कहा कि एटीएम में सैनिटाइजर की व्यवस्था बैंकों को करनी चाहिए। धमतरी जिला ग्रीन से अब रेड जोन में पहुंच गया है। संक्रमण कैश व एटीएम से ज्यादा फैल सकता है, क्योंकि यहां व्यवस्था नहीं रहती। लोगों को पैसों की जरूरत है, एटीएम से कैश निकालेंगे। बैंक एटीएम का चार्ज हर साल वसूल करती है। साल में एटीएम चार्ज भी बढ़ा देती है, ऐसी स्थिति में संक्रमण रोकने के लिए सैनिटाइजर रखना चाहिए।
एसबीआई में रखे सैनिटाइजर खत्म
एसबीआई ने अपने सभी एटीएम में अप्रैल माह में सैनिटाइजर रखे थे। इसके बाद मेंटेनेंस करना भूल गई। सभी सैनिटाइजर खत्म हो गए हैं। डिब्बे के ढक्कन गायब हैं। लोग एसबीआई में जाने के पहले सैनिटाइजर को देखते ही बटन दबाते हैं, नहीं निकलने पर बिना सैनिटाइज किए कैश निकालने पड़ रहे।
इन बैंकों में है सैनिटाइजर
एटीएम की पड़ताल की गई तब कंटेनमेंट जोन में 8 में से 3 एटीएम में सैनिटाइजर की व्यवस्था थी। इसमें आईडीबीआई बैंक, रत्नाबांधा में आंध्रा बैंक और एसबीआई बैंक में सैनिटाइजर रखे गए थे। ओरियंटल ऑफ कामर्स बैंक के एटीएम में किसी व्यक्ति ने हैंड ग्लव्स फेंक दिया था।
बैंकों को निर्देशित करेंगे
लीड बैंक मैनेजर अमित रंजन ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए बैंकों के एटीएम में सैनिटाइजर व हाथ धोने की व्यवस्था होनी चाहिए। एटीएम में व्यवस्था नहीं है तो बैंकों को निर्देशित करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना