नया प्रयोग / काम के आधार पर लाल, पीले और हरे वर्ग में बंटेंगे पटवारी: कलेक्टर

Patwari will be divided into red, yellow and green squares based on work: Collector
X
Patwari will be divided into red, yellow and green squares based on work: Collector

  • राजस्व अफसरों को 3 माह में लंबित मामले निपटाने के दिए निर्देश

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

धमतरी. राजस्व विभाग की जड़ पटवारियों से आधे अधूरे संसाधनों के बीच समय से काम कराने के लिए उन्हें तीन वर्ग में बांटा जाएगा। ऐसा पटवारियों में समय से काम करने की स्पर्धा बढ़ाने के लिए प्रयोग किया जा रहा है। कलेक्टर ने मंगलवार को राजस्व अफसरों की बैठक में निर्देश दिए कि पटवारियों को काम करने के तरीके के आधार पर तीन वर्ग में बांटा जाए। यह तीन वर्ग हरा, पीला व लाल रंग के होंगे। 
गंगरेल बांध के रेस्टहाउस में मंगलवार को हुई राजस्व अधिकारियों की मासिक समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए नए सिरे से कार्य करने कहा। उन्होंने नामांतरण, बंटवारा तथा पटवारी प्रतिवेदन के लंबित मामलों का निपटारा तीन महीने में करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा आम जनता का राजस्व अधिकारियों से प्रत्यक्ष जुड़ाव होता है, इसलिए लोगों की समस्याओं के निराकरण में अनावश्यक देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार व नायब तहसीलदार प्रकरणों का बेहतर ढंग से निराकरण करने के लिए तत्पर रहें। जिस कार्य के लिए शासन ने उन्हें नियुक्त किया है, उसके प्रति सकारात्मक व पूर्ण जवाबदेही के साथ जिम्मेदारी निभाएं। उन्होंने फर्द बंटवारे के लंबित मामले में कहा कि पटवारी अपने हल्के के ग्राम पटेल, प्रमुख एवं दोनों पक्षों के तर्क व तथ्य सुनते हुए यथासंभव आपसी सहमति पर निराकृत करें। कलेक्टर ने कहा कि नामांतरण प्रकरणों में किसी भी स्थिति में इश्तहार प्रकाशन के 14 दिनों के भीतर पटवारी प्रतिवेदन अनिवार्य रूप से प्राप्त कर लिया जाना चाहिए। इस अवधि में भी प्रतिवेदन लंबित पाया जाता है, तो एक सप्ताह के भीतर स्मरण पत्र देकर जवाब मांगें। इसके बाद भी पटवारी प्रतिवेदन न दें तो उसका वेतन रोकें। अनुशासनात्मक कार्रवाई करें। 

पटवारियों के ये तीन वर्ग होंगे

  • हरा वर्ग- हमेशा समय से काम करने वाले।
  • पीला वर्ग- कभी-कभी समय से काम नहीं करने वाले।
  • लाल वर्ग- हमेशा समय से काम नहीं करने वाले।

भुइयां प्रकरणों की एंट्री भी ऑनलाइन की जाए
मासिक बैठक में भुइयां प्रकरणों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने कहा कि नामांतरण, बंटवारा के आदेश पारित होने के एक माह के अंदर आॅनलाइन रिकाॅर्ड अनिवार्य रूप से अपडेट कराएं। रिकाॅर्ड ठीक कराने की जिम्मेदारी तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार की होगी। कलेक्टर ने बैठक में पटवारियों द्वारा प्रकरणों के संबंध में कार्य गुणवत्ता का आंकलन करने पर जोर देते हुए कहा कि पटवारियों की गुणवत्ता का आंकलन तीन स्तर पर किया जाएगा, जो कि विभिन्न बिन्दुओं पर आधारित होगा। कार्य निष्पादन क्षमता एवं समय-सीमा में निष्पादित करने को लेकर रेड, यलो तथा ग्रीन स्तर के आधार पर इंडिकेटर तैयार किया जाएगा। साथ ही हल्का दिवस में पटवारी को अनिवार्य रूप से अपने हल्के में रहकर राजस्व के प्रकरणों का स्थानीय स्तर पर निराकरण किया जाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना