पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बोराई थाना क्षेत्र का मामला:आदिवासियों को पुलिस ने पीटा, नक्सली बता तानी बंदूक

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ऑटो से उतारकर ड्राइवर सहित 4 को पीटा, सभी कोंडागांव जिले के निवासी, एएसपी ने एसडीओपी को दिए जांच के आदेश

बाेराई थाना पुलिस ने शाेक कार्यक्रम से घर लौट रहे 10 से अधिक आदिवासियों को गाड़ी से उतारकर बीते शुक्रवार काे बेरहमी से पिटाई की। विरोध करने पर जवानों ने ड्राइवर को 100 मीटर तक दौड़ाया। पिटाई की। पीड़ित पक्ष केस कराने थाने आया तो जवानों ने नक्सली बताकर बंदूक तान दी। जान से मारने की धमकी दी ताे घबराकर सभी घर लौट आए। इस मामले की शिकायत के बाद एएसपी ने नगरी एसडीओपी को जांच के आदेश दिए हैं।
जानकारी के मुताबिक घटना 25 सितंबर की रात की है। काेंडागांव जिले के सिवनीपॉल निवासी रामकुमार नेताम परिवार के करीब 10 सदस्यों के साथ ओडिशा के भुरकामौली गए थे। शोक कार्यक्रम में शामिल होकर शाम करीब 5 बजे भरत यादव के ऑटो से घर लौट रहे थे। ऑटो में रामकुमार नेताम के अलावा झिटकुराम नेताम, हीरामन नेताम, 6 साल की बालिका रोशनी नेताम सहित तीजोबाई, सुरजो, रुपोतिन और गीता सभी लोग बैठे थे। बोराई थाने के पास गाड़ी को पुलिस जवानों ने रोका और लॉकडाउन में घूमने की बात कहकर पिटाई की। सड़क किनारे पड़े डंडे से खूब पीटा। घटना की जानकारी ड्राइवर भरत यादव ने बड़े भाई सुरेंद्र को बताई।
नगरी एसडीओपी कर रहे जांच: एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि सिवनीपाल के कुछ लोगों ने बोराई पुलिस जवानों पर मारपीट का आरोप लगाकर आवेदन दिया है। जांच के लिए एसडीओपी नितिश ठाकुर को आदेश दिया है। रिपोर्ट के मिलने के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी।

पीड़ित पक्ष के साथ ग्रामीण 26 सितंबर को सुबह करीब 10 बजे बोराई थाने आए, तो ड्यूटी पर तैनात पुलिस जवानों ने थाने के बाहर ही सभी को रोक लिया। पीड़ित ऑटो ड्राइवर भरत यादव, रामप्रसाद नेताम ने पुलिस जवानों द्वारा मारपीट करने का केस दर्ज कराने की बात कही, तो थाने में ड्यूटी कर रहे सभी पुलिस जवान, अधिकारी बाहर निकलकर ग्रामीणों को धमकाने लगे। वापस नहीं लौटने पर जेल भेजने की धमकी दी। करीब घंटेभर बहस हुई। तब पीड़ित पक्ष का आवेदन लिया गया। ग्रामीणों ने निष्पक्ष जांच कर दोषी पुलिस जवानों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। कार्रवाई नहीं होने पर आईजी व डीजीपी से शिकायत की बात कही।

कोंडागांव के रामप्रसाद नेताम के परिवार को ओडिशा के भुरकामौली लेकर गया था। 25 सितंबर को शाम 5 बजे लौट रहे थे। बोराई थाने के पास 6 पुलिस जवान सिविल ड्रेस में जांच कर रहे थे। मुझे ऑटो के दस्तावेज लेकर बुलाया। फिर दो थप्पड़ मारे। विरोध किया तो डंड़े से पीटा। भागा तो 3 जवानों ने दौड़ा-दाैड़ा कर पीटा। रामप्रसाद ने विरोध किया तो उसे भी पीटा। महिलाओं ने विरोध किया तो अपशब्द कहे। 6 साल की बच्ची को दो थप्पड़ मारे। रात 8 बजे परिजन ने केस दर्ज करने कहा तो 5 जवान थाने से निकले और नक्सली बता बंदूक तान दी, धमकी दी। जवान नशे में थे।
-जैसा कि ऑटो ड्राइवर- भरत यादव ने भास्कर को बताया

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें