पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शुभ संकेत:कम हाे रहा संक्रमण; 20 दिन पहले भरे 366 ऑक्सीजन व 66 आईसीयू बिस्तर और 19 वेंटिलेटर खाली

धमतरी23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब तक 25779 लोग संक्रमित, 84.75 प्रतिशत मरीज घर पर हुए स्वस्थ
  • आज रात 12 बजे लॉकडाउन होगा खत्म, रिकवरी दर 93.50% हुई

कोरोना संक्रमण खत्म करने के लिए 31 मई रात 12 बजे तक लॉकडाउन लगाया गया है। इसके लिए रविवार को पूरे 49 दिन हो गए। पिछले 10 दिन से 150 से कम ही संक्रमित मिल रहे हैं। 30 अप्रैल को संक्रमण दर 26.76 प्रतिशत थी, जो 29 मई को 5.63 प्रतिशत घटकर 21.13 प्रतिशत पर आ गई है।

सबसे सुखद बात यह है कि 20 दिन पहले सभी कोविड अस्पतालों के बिस्तर भरे हुए थे। बिस्तर के लिए कई मरीज परेशान हाे रहे थे, लेकिन अब अस्पतालों में मरीज कम हो रहे है। संक्रमण दर कम हुई है। ज्यादा लोग स्वस्थ होने लगे हैं। स्थिति यह कि 366 ऑक्सीजन बिस्तर, 19 वेंटिलेटर व 66 आईसीयू बिस्तर खाली हैं। रिकवरी दर 93.50% तक बढ़ गई है। काेराेना का संक्रमण कम हाे रहा है। यह जिले के लिए शुभ संकेत हैं।

संक्रमण में कमी अाई, मई में लगातार कम हुए नए केस
मई में कोरोना के केस हर दिन घट रहे हैं, जबकि एक महीने पहले अप्रैल में काेराेना संक्रमित मरीज मिलने का रोज नया रिकॉर्ड बना रहा था। राहत है कि मई में संक्रमितों के िमलने से ज्यादा ठीक होने वालों की संख्या है। इस महीने अब तक 6564 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं, जबकि इन्हीं 29 दिन में 11 हजार 505 मरीज कोरोना को हराकर स्वस्थ हुए हैं। अप्रैल के 29 दिन में 9480 संक्रमित मिले थे, जबकि 4313 मरीज स्वस्थ हुए थे। 30 अप्रैल को जिले में मरीजों के ठीक होने की दर 65.57 प्रतिशत थी, जो अब बढ़कर 29 मई की स्थिति में 93.50 फीसदी हाे गई हैं।

चिंता: 29 दिन में 170 मौत मृत्युदर 2.07% पर आई
जिले के लिए चिंता की बात यह है कि अभी कोरोना से मौत होने वालों हर दिन घट और बढ़ रही है। पिछले महीने अप्रैल के 30 दिन में 222 लोगों की मौत हुई थी। मई के 29 दिन में 170 लोगों ने दम तोड़ दिया हैं। हालांकि अप्रैल के मुकाबले 52 लोगों की कम मौतें हुई हैं। जिले में अब तक 534 लोगों को खो चुके हैं।

पीक खत्म, तेजी से रिकवर हो रहे मरीज: सीएमएचओ
सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे ने बताया कि कोरोना संक्रमण को रोकने में काफी हद तक कामयाब रहे हैं। अस्पतालों में बिस्तराें लिए अब पहले की तरह मारामारी नहीं है। अच्छी बात यह है कि अस्पतालों में मरीज लगातार स्वस्थ होने से बिस्तर खाली हो रहे हैं, लेकिन संक्रमण अभी कम हुआ है, खत्म नहीं हुआ है।

इन कारणों से लगातार घट रहा संक्रमण

  • लाेग संक्रमण से बच रहे हैं।
  • सतर्क हैं।
  • लक्षण के आधार पर सलाह व दवा दी जा रही।
  • संक्रमण का पीक गुजर गया है।
खबरें और भी हैं...