आत्म अवलोकन:संत गुरुभूषण ने कहा सुख-शांति के लिए जीवन में ध्यान जरूरी

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संत कबीर सेवा संस्थान देवपुर एवं यथार्थ फाउंडेशन ने ध्यान योग शिविर किया। समापन समारोह में संत गुरुभूषण ने कहा आत्मा में लौट आना ही सत्संग और ध्यान का परिणाम है। लोग शांति सुकून सुख के लिए सत्संग और ध्यान के अभाव में भटकते रहते हैं।आत्म चिंतन, आत्म अवलोकन के अभाव में परेशान होते हैं। इसलिए जीवन में ध्यान आवश्यक है।

संत रविकर साहेब ने कहा लोगों की दृष्टि बाहर की ओर है इसलिए बाह्य दृष्टि से देखते हैं लेकिन स्वयं की ओर नहीं देखते। सत्संग और ध्यान, स्वयं को देखने का दर्पण है आत्मानुभूति के लिए ध्यान से मन निर्विषय कर आत्मस्थ हुआ जा सकता है।

समापन के अवसर पर संत गुरुजनों की पूजा आरती की गई। लोगों के लिए भोजन भंडारा प्रसाद दिया गया। साथ ही निशुल्क चिकित्सा शिविर, नेत्र जांच शिविर भी किया गया। इसमें लोगों को निशुल्क दवाई एवं ड्राप दिया गया। 7 लोगों का चयन ऑपरेशन के लिए किया गया। संत कोमल साहब, शोधकर साहब, चिरंजीव साहब व संस्थान के कार्यकर्ता पदाधिकारी ने लोगों का आभार व्यक्त किया । रेमन दास साहू, डॉ दिनेश साहू, रेवाराम निषाद, देवनारायण साहू, डॉ रामकृष्ण साहू मनोहर लाल साहू शिक्षक, नंदघरुखा साहू, त्रिलोचन दास, गणराज सिन्हा आदि।

खबरें और भी हैं...