पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

ठगी:एसबीआई अफसर बता प्राचार्य से मांगा ओटीपी, खाते से सवा लाख पार

धमतरी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अनजान नंबर के झांसे में आने वाले प्राचार्य नगरी डीहीपारा के हैं निवासी, पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया

नगरी के एक स्कूल के प्राचार्य बिसालीराम ध्रुव ने अनजान व्यक्ति को एटीएम कार्ड नंबर और ओटीपी बताकर सवा लाख रुपए गंवा दिए। अज्ञात व्यक्ति ने खुद को दिल्ली एसबीआई ऑफिस का अफसर बताकर धोखाधड़ी की। पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ 420 के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक नगरी के डीहीपारा निवासी बिसालीराम ध्रुव (54) मारागांव के शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल के प्रभारी प्राचार्य है। इनके पास करीब सालभर पहले उसके मोबाइल पर अनजान व्यक्ति ने फाेन किया। उसने खुद को एसबीआई ऑफिस दिल्ली का अफसर बताया। डेबिट कार्ड का वेरिफिकेशन कराने की बात कहकर झांसे में लिया और कार्ड नंबर पूछा, लेकिन बिलासीराम ने नंबर नहीं बताया। 2 माह तक अज्ञात व्यक्ति उसे कॉल करता रहा। इस बीच सहायक कार्ड बनाने का झांसा दिया। इसके लिए 5000 रुपए खर्च बताया। उसे भी नजर अंदाज कर दिया। उसके बाद फिर फोन कर यह कहा कि आपका सहायक कार्ड बनाना है, पूर्व में जितना पैसा कटा है वह खाते में वापस आ जाएगा। इसके लिए एटीएम कार्ड के 12 अंक का नंबर पूछा। बिलासीराम ध्रुव ने कार्ड के शुरू के 8 अंक बता दिए, बाकी 4 अंक छोड़ दिए। 3 दिन बाद बैंक पासबुक का सीआईएफ नंबर पूछा। यह बताते ही ओटीपी नंबर मांगा। 21 सितंबर को एक और ओटीपी नंबर आया, उसे भी बिलासीराम ने बता दिया।

नौकरी लगाने के नाम पर 3 युवकों से 16 लाख ठगे
मंत्रालय में नौकरी लगाने का झांसा देकर 3 युवकों से 16 लाख रुपए की ठगी हो गई। कोतवाली टीआई नवनीत पाटिल ने बताया कि ठगी की यह घटना 2015 की है। आमातालाब रोड निवासी रामनंदन पाल का देवपुर निवासी महेश्वर साहू, योगेश्वर साहू व नंदगोपाल साहू से संपर्क हुआ। तीनों युवक नौकरी की तलाश में थे। इसका फायदा उठाकर रामनंदन ने मंत्रालय में नौकरी लगवाने का झांसा दिया। अपनी ऊंची पहुंच बताई। इसके झांसे में तीनों युवक आ गए। नौकरी लगाने के बदले में एक-एक युवक से रुपए की मांग की। युवक झांसे में आ गए थे, तो तीनों ने नौकरी के लालच में 16 लाख रुपए दे दिए। नौकरी नहीं लगी। पैसा वापस नहीं देने पर थाने में शिकायत की।

खाता जांचा, तो गायब थे 1.22 लाख रुपए
बिलासीराम ध्रुव अज्ञात व्यक्ति के झांसे में आकर उनके बताए अनुसार अपने खाता का बैलेंस देखने बैंक गया। तब उसके खाते में जमा 1 लाख 22 हजार 500 रुपए गायब थे। धोखाधड़ी का एहसास होते ही तुरंत नगरी थाना में आपबीती बताई। लिखित में आवेदन दिया। नगरी टीआई विनय पम्मार ने बताया कि ऑनलाइन ठगी और पैसा आहरण के मामले में बिलासीराम ध्रुव की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धारा 420, 66डी के तहत केस दर्ज किया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें