विसर्जन यात्रा:शहर में दिनभर लगा रहा मेला, ढाेल-नगाड़ों के साथ मां को किया गया विदा, आज भी जारी रहेगा विसर्जन

धमतरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • शीतला मंदिर में हुआ जंवारा विसर्जन, रुद्री पर जाकर प्रतिमाओं को विसर्जित किया गया, बड़ी संख्या में शामिल हुए श्रद्धालु

शक्ति उपासना का पर्व गुरुवार को खत्म हो गया। 9 दिन आराधना, पूजन और सेवा के बाद भक्तों ने माता रानी को विदाई दी। शहर में समितियाें द्वारा स्थापित की गईं आकर्षक और भव्य देवी प्रतिमाअाें काे ढाेल-नगाड़ाें के साथ धूमधाम से विदा किया। ज्योत-जंवारा विसर्जन यात्रा भी निकली। 15 अक्टूबर को विजयादशमी के दिन भी कई दुर्गोत्सव समितियों के द्वारा मां को विदा करेंगे।

शहर के करीब सभी वार्डों में सार्वजनिक रूप से देवी की प्रतिमा भक्तों ने बैठाई थी। गुरुवार को नवमी पर विसर्जन यात्रा निकाली गई। जालमपुर भागवत चौक, साल्हेवारपारा, दानीटोला शंकर नगर, मकेश्वर वार्ड, बनियापारा, महंत घासीदास वार्ड सहित अन्य वार्डों में बैठाए देवी की प्रतिमा विसर्जन के लिए निकाली। सदर रोड पर इन सभी वार्डों की विसर्जन यात्रा निकली, तो सड़कों पर यातायात जाम हाे गया। पुलिस जवानों को यातायात दुरूस्त करने में खूब मशक्कत करनी पड़ी।

यह भी जानिए-

  • सुबह ज्योत-जवारा विसर्जन हुआ। दोपहर बाद ढोल-नगाड़े के साथ दुर्गाेत्सव समितियाें ने विसर्जन यात्रा निकाली।
  • सदर बाजार में दिनभर मेला-सा माहौल रहा। बैंड की धुनाें पर नाचते हुए भक्तों ने माता रानी को विदाई दी।
  • सुरक्षा के लिए महानदी घाट में पुलिस, निगम की टीम व सेना बल के गोताखोर तैनात रहे। सीसीटीवी कैमरे से निगरानी होती रही।
खबरें और भी हैं...