टीकाकरण में पिछड़ा शहर:उसलापुर के लोगों ने टीका नहीं लगवाया बाेले- कुछ हुआ ताे जिम्मेदार काैन होगा

धमतरी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 79 प्रतिशत लोगों ने ही लगवाई वैक्सीन

जिले में 45 साल या अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण का काम लॉकडाउन के बाद से कमजोर पड़ गया है। अब तक 95 प्रतिशत लोगों ने ही टीकाकरण कराया है, जबकि स्वास्थ्य विभाग ने 30 अप्रैल यानी एक महीने में टीकाकरण का काम 100 प्रतिशत करने का लक्ष्य रखा है। सबसे ज्यादा पीछे शहर में ही हैं। शहर में 20 हजार 437 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा है। जिनमें से 16 हजार 204 लोगों ने ही टीका लगवाया है। यह करीब 79 प्रतिशत है।

नजदीकी गांव उसलापुर में ऐसे ही हालत हैं। यहां 45 साल व अधिक उम्र के लोगों ग्रामीणों ने टीकाकरण कराने से स्पष्ट मना कर दिया है। लोग टीकाकरण से इसलिए घबरा रहे, क्योंकि कई जगह से शिकायत मिल रही कि टीकाकरण के बाद लोगों की सेहत बिगड़ रही। मौत हो रही है। जबकि स्वास्थ्य विभाग के अफसर टीकाकरण को बिल्कुल सुरक्षित बता रहे हैं।

इसलिए टीकाकरण से किया मना

उसलापुर तेलीनसत्ती पंचायत का आश्रित गांव है। जनसंख्या 487 हैं। 45 प्लस 80 लोग हैं, जिन्हें टीका लगना है, लेकिन वे टीका लगवाने से मना कर रहे है। पंच अवधराम ने बताया कि उन्हें जागरूक करने के बावजूद टीकाकरण से इनकार किया। टीकाकरण कराने वालों का कहना है कि यदि कोई अप्रिय घटना होती है, तो इसके लिए जिम्मेदार कौन होगा?

सोनेवारा के लोगों से टीका लगाने की अपील

सोनेवारा के कई लोग टीकाकरण नहीं कराया है। ऐसे में गांव में टीकाकरण पिछड़ा है। सरपंच, पंच, सचिव, रोजगार सहायक, ऑगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन व पटवारी घर-घर जाकर लोगों को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण कराने की आग्रह किया है।

45 प्लस 1.52 लाख लोगों का टीकाकरण

जिले में 45 प्लस 1 लाख 60 हजार 753 लोगों का टीकाकरण कराने का लक्ष्य स्वास्थ्य विभाग ने रखा है। अब तक 1 लाख 52 हजार 649 लोगों को टीका लगा है। जिले में 95 प्रतिशत टीकाकरण हुआ है। शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए 8 हजार 104 लोगों का और टीकाकरण कराना बाकी हैं।

जिले के 5 ब्लॉक में से अकेले नगरी में टीकाकरण का लक्ष्य पूरा हुआ है। यहां 36079 लोगों का टीकाकरण करना था, जबकि 45 प्लस 36 हजार 697 का टीकाकरण हुआ है। शहर ग्रामीण में 98 प्रतिशत, कुरूद में 9995 प्रतिशत, मगरलोड में 94 प्रतिशत और शहर में 79 प्रतिशत टीकाकरण हुआ है।

खबरें और भी हैं...