पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस ने बचाई 5 जान:2 हाईवा के बीच दबी वैन, महिला फंसी, 2 घंटे में सुरक्षित निकाला

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने गाड़ी के पार्ट्स काटकर महिला को निकाला। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने गाड़ी के पार्ट्स काटकर महिला को निकाला।
  • नेशनल हाईवे पर सोनपुर के पास हुअा हादसा, जेसीबी, क्रेन व कटर मशीन का उपयाेग कर महिला काे बचाया, घंटेभर जाम रहा हाईवे

नेशनल हाईवे पर सोनपुर मोड़ के पास शुक्रवार काे भयानक सड़क दुर्घटना हुई। इसमें एक नई इको कार सड़क पर चल अागे पीछे चल रहे दो हाईवा वाहनाें के बीच आ गई। पिचक गई। पीछे चल रहे हाईवा ने जबरदस्त टक्कर मारी। ईकाे गाड़ी अागे चल रही हाईवा से जाकर टकराई। इको गाड़ी के पार्ट्स सड़क पर खिलौनाें की तरह बिखर गए। इको में पति-पत्नी, दो बच्चे और ड्राइवर सवार थे।

दुर्घटना के बाद पति व बच्चे के साथ ड्राइवर काे तुंरत निकाल लिया गया। महिला बुरी तरह फंस गई। उसे 2 घंटे के प्रयास के बाद ईकाे कार काे टुकड़ाें में काटा गया। सुरक्षित बाहर निकाला गया। पुलिस के मुताबिक मेघा निवासी संतोष बंजारे (40) अपनी पत्नी संतोषी बंजारे (36) और दो बेटे योगेंद्र (14) और लोकेश (17) के साथ भिलाई जाने निकले थे। गाड़ी ड्राइवर ओमप्रकाश कुर्रे चला रहा था।

नेशनल हाईवे पर चौड़ीकरण के कारण वाहन धीरे-धीरे चल रहे थे। हाईवा के पीछे नई इको व उसके पीछे हाईवा सीजी 04 टीए 1134 चल रही थी। सोनपुर मोड़ के पास सामने चल रही हाईवा ने अचानक ब्रेक मारा। इको गाड़ी के ड्राइवर ने भी गाड़ी रोक दी, लेकिन पीछे चल रही हाईवा नहीं रुक पाई। पीछे से जोरदार टक्कर मार दी। दो हाईवा के बीच इको कार फंसकर पिचक गई।

हादसा शुक्रवार शाम 4 बजे हुअा। सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को मिली। एएसपी मनीषा ठाकुर ने हाईवे पेट्रोलिंग-1 और बिरेझर चौकी प्रभारी शांता लड़का को भेजा। कार में पति-पत्नी, ड्राइवर और दो बच्चे फंसे थे। पुलिस ने संतोष, उसके 2 बच्चे योगेंद्र, लोकेश, ड्राइवर को बाहर निकाला। एंबुलेंस से कुरूद अस्पताल भेजा। महिला संतोषी बंजारे बुरी तरह फंसी थीं। गर्दन हल्की सी कटी थी। पैर फंसे थे। फिर 1 क्रेन, 1 जेसीबी और 1 कटर मशीन मंगाई गई। ग्रामीणों की मदद से 2 घंटे तक कार के छोटे-छोटे कई टुकड़े किए गए। शाम 6 बजे महिला को बाहर निकालकर अस्पताल भेजा।

हाईवा चालक को हिरासत में लिया गया
एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया दो हाईवा के बीच एक इको कार फंसकर पिचक गई। सूचना मिलते ही हाईवे पेट्रोलिंग ने जिम्मेदारी निभाई। बिरेझर पुलिस के सहयोग में कार से 5 घायलों को निकाला गया। हाइवा चालक के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हादसे के बाद लाेगाें के बचाने के प्रयासाें के दाैरान एसआई शांता लकड़ा सहित प्रधान आरक्षक वीरेंद्र बैस, आरक्षक ललित रघुवंशी और सहायक आरक्षक पवन दिल्ली माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...