पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राहत:गंगरेल से छोड़ा पानी, 15 हजार हेक्टेयर में होगी सिंचाई

धमतरी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • रायपुर को पानी देना तय नहीं, गुरूर ब्लॉक के खेतों की भी होगी सिंचाई, 749 हेक्टेयर को दिया जाएगा पानी

रबी वर्ष 2020-21 में धान फसल बोनी के लिए रुद्री बैराज से बुधवार से पानी देना शुरू कर दिया है। रुद्री मुख्य नहर से 1800 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। धमतरी और कुरूद ब्लॉक के कोड़ापार तक पानी दिया जाएगा। 14 वितरक शाखा से 49 किमी तक के 15 हजार 800 हेक्टेयर खेतों की सिंचाई होगी। गंगरेल बांध के पेन स्टॉक के दो यूनिट से 8 जनवरी से 850 क्युसेक पानी रुद्री बराज में छोड़ा जा रहा था। 13 जनवरी को सुबह 11 बजे तक इसे बढ़ाकर 1450 क्यूसेक कर दिया गया। भिलाई स्ट्रील प्लांट को 500 क्यूसेक पानी दिया जा रहा है। रुद्री बैराज से दोपहर 12 बजे सिंचाई के 1800 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक में 26 हजार 773 हेक्टेयर क्षेत्र में पानी देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। अभी सिर्फ धमतरी और कुरूद ब्लॉक में ही पानी दिया जा रहा। रायपुर को पानी नहीं: रायपुर जिले में सिंचाई के पानी नहीं दिया जा रहा है। रायपुर में पानी दिया जाएगा या नहीं यह अभी तय नहीं हुआ है। बालोद जिले के गुरूर ब्लॉक के 749 हेक्टेयर खेतों में सिंचाई के लिए पानी देना प्रस्तावित है।

10.5 मेगावाट बिजली उत्पादन किया जा रहा
गंगरेल बांध पेन स्टॉक से सिंचाई के लिए पानी दिया जा रहा है। यहां से 1800 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इससे 10.5 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा। यह पानी रूद्री बैराज से होकर सिंचाई के लिए मुख्य नहर में छोड़ा जा रहा।
सिंचाई के मुख्य नहर से पानी दिया जा रहा
एसडीओ एमडी महंत ने बताया कि सिंचाई के लिए मुख्य नहर से 15 हजार 800 क्यूसेक पानी दिया जा रहा। 14 वितरक शाखा के माध्यम से खेतों तक पानी जाएगा। रायपुर को पानी देना अभी तय नहीं हुआ है। गुरूर ब्लॉक के 749 हेक्टेयर में पानी दिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser