पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फिर ठप होगा टीकाकरण:वैक्सीनेशन हुआ शुरू तो दिनभर लगी रही कतार 3 हजार में से 771 डोज बची, आज हो जाएगी खत्म

धमतरी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कन्या स्कूल में टीका लगवाने के लिए लोग सटकर खड़े रहे। पंजीयन में भी भीड़ रही। - Dainik Bhaskar
कन्या स्कूल में टीका लगवाने के लिए लोग सटकर खड़े रहे। पंजीयन में भी भीड़ रही।
  • 15 जुलाई को वैक्सीन नहीं आई तो 16 जुलाई को बंद हो जाएगा टीका लगाने का काम

वैक्सीन की किल्लत एक बार फिर शुरू हो गई है। केंद्र सरकार द्वारा सबको मुफ्त वैक्सीन देने की घोषणा होने के बाद 21 जून से वैक्सीन लगना शुरू हुई थी। शुरू में पर्याप्त वैक्सीन मिली। इसके बाद बेहद कम मात्रा में वैक्सीन मिल रही है।

इस कारण तीसरी लहर से लड़ने की तैयारी कमजोर पड़ रही है। बुधवार को 5 दिन बाद वैक्सीन लगना शुरू हुई थी। केंंद्रों में मिली वैक्सीन की ज्यादातर डोज एक दिन में ही खत्म हो गई। 15 जुलाई के लिए मात्र 771 डोज बची हैं। इसके बाद वैक्सीनेशन एक बार फिर रुक जाएगा।

जिले में टीके की कमी के कारण वैक्सीनेशन 8 जुलाई से बंद था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार टीके की मांग करने के बाद राज्य सरकार से जिले को 3 हजार डोज मंगलवार को मिली थी। बुधवार को वैक्सीनेशन शुरू हुआ। शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र के केंद्रों पर दिनभर कतार लगी रही।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोग टीका लगवाने के लिए कोरोना गाइडलाइन को भूलकर ही सटकर खड़े रहे। होड़ लगी रही। केंद्रों को मिली डोज दोपहर तक खत्म हो गई। दिनभर में 2229 लोगों को वैक्सीन की डोज दी गई। अब 15 जुलाई के लिए मात्र 771 डोज ही बची हैं।

2.93 लाख लोग ऐसे जिन्हें पहली डोज नहीं लगी: जिले में अभी भी करीब 2.94 लाख ऐसे लोग हैं, जिन्हें पहली डोज ही नहीं लगी है। लोग वैक्सीन लगवाने का प्रयास कर रहे हैं। 16 जनवरी 2021 से अब तक कुल 3 लाख 48 हजार 192 डोज लग चुकी है। जिसमें 2 लाख 76 हजार 621 लोगों को पहली डोज और 71 हजार 571 लोगों को दूसरी डोज लगी है।

पहली डोज के लिए जिले में 5 लाख 70 हजार 175 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य है, इसमें से 2 लाख 75 हजार 558 लोगों को ही टीका लगा हैं। यानी अभी भी 48.32 प्रतिशत 2 लाख 94 हजार 617 लोगों को पहली डोज का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है।

गति नहीं पकड़ पा रहा वैक्सीनेशन

तीसरी लहर की आशंका एक महीने से जताई जा रही है लेकिन वैक्सीनेशन को व्यवस्थित अब तक नहीं किया जा सका है। टीके का टोटा होने के कारण वैक्सीनेशन कार्यक्रम गति नहीं पकड़ पा रहा। जिले में 18 से 44 साल के आयुवर्ग के 3.94 लाख युवाओं के वैक्सीनेशन का लक्ष्य है, लेकिन अब तक करीब एक लाख को ही टीका लगा है।

अभी भी जिले के करीब लाख युवा वैक्सीन लगाने के लिए कतार में है। ऐसे ही रहा तो सभी को टीका लगाने में सालभर लग जाएंगे। जिले में 18 से 44 साल के लोगों का टीकाकरण 1 मई से शुरू हुआ है। इस वर्ग के लिए टीका राज्य सरकार दे रही थी, लेकिन बाद में केंद्र सरकार ने 21 जून से सभी को टीका लगाने की घोषणा की। पूरे देश सहित जिले में भी टीकाकरण महाभियान शुरू होने के साथ वैक्सीनेशन ने रफ्तार पकड़ी। हर दिन 18 प्लस युवाओं को टीका लगाने 11000 का लक्ष्य मिला लेकिन पूरा नहीं हो पाया।

2229 को लगा टीका

टीकाकरण अधिकारी बीके साहू ने बताया कि दिनभर में 2229 लोगों को टीका लगा है। अब करीब 700 डोज बचीं हैं। यह गुरुवार को लगाईं जाएंगी। वैक्सीन मिल जाती है तो आगे भी लगेंगी।

इतनी डोज लग चुकी 348192

कुल वैक्सीनेशन

  • पहली डोज 276621
  • दूसरी डोज 71571
खबरें और भी हैं...