पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदलेगा स्वरूप:नरहरा की सुरक्षा में महिलाएं तैनात, डेंजर जोन जाने पर रोक, पार्किंग शुल्क लगेगा

धमतरी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासनिक अफसरों ने किया नरहरा का निरीक्षण, टोल नाका बैरियर पर लिया जाएगा पार्किंग शुल्क, शनिवार, रविवार को लगेगी पुलिस की ड्यूटी

शहर से करीब 30 किमी दूर नरहरा जलप्रपात को पर्यटन के रूप में बेहतर तरीके से विकसित किया जाएगा। यहां का विकास पर्यटकों से वसूले गए पैसे से होगी। नरहरा की सुरक्षा के लिए अब महिला समूह को जिम्मेदारी दी जाएगी। डेंजर जोन जाने पर पूरी तरह रोक लगेगी। यहां शराबखोरी पूरी तरह प्रतिबंधित होगा। हर शनिवार और रविवार को पुलिस अधिकारी, जवानों की ड्यूटी लगेगी।
बारिश के साथ नरहरा जलप्रपात अपनी सुंदरता के लिए मशहूर है। घने जंगल से होकर झरना तक लोग पहुंच रहे हैं। यहां सैलानियों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए जिला पंचायत ने मनरेगा योजना के तहत पिकनिक स्पॉट बनाने सुविधाएं जुटाना शुरू कर दिया गया है। नरहरा में करीब 25 फीट ऊंचाई से पानी एक के बाद चट्टानों से गिरता है। सालभर पहले तत्कालीन कलेक्टर रजत बंसल ने यहां काम शुरू कराए थे। अब तक 1.17 करोड़ के काम हो चुके हैं। नरहरा जलप्रपात को और विकसित करने अब महिला समूह को जिम्मेदारी सौंपी जा रही है। गांव के प्रवेश स्थल से हटाकर टोल नाका पर्यटन क्षेत्र में लगाया जाएगा। 
सुबह 9 बजे से शाम 5.30 बजे पर्यटकों को प्रवेश मिलेगा। बैरियर में दोपहिया वाहन से 20 रुपए, चार पहिया से 50 और भारी वाहनों से 100 रुपए शुल्क लिया जाएगा। पेयजल, स्वच्छता एवं शौचालय शुल्क भी लिया जाएगा। पर्यटन क्षेत्र में स्वच्छता, मंदिर, वाॅटरफाॅल पाइंट, शौचालय आदि की जिम्मेदारी पंचायत क समितियों को सौंपी गई है।
अफसरों ने किया नरहरा जलप्रपात का निरीक्षण
कलेक्टर, सीईओ नम्रता गांधी सहित अन्य प्रशासनिक अफसरों ने साेमवार को नरहरा का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने बाहर से आने वाले पर्यटकों से पार्किंग शुल्क लेने, स्वच्छता बरतने, शराबखोरी बंद कराने कहा। दुर्घटना को ध्यान में रख डेंजर पाइंट में प्रवेश पूरी तरह प्रतिबंध होगी। प्लास्टिक-फ्री जोन बनाया जाएगा। स्वरोजगार के अवसर और स्थानीय उत्पादों को भी बढ़ावा दिया जाएगा।

5 किमी बन गई मुरुम सड़क
नरहरा जलप्रपात धमतरी से केरेगांव से बनबगौद, झुरातराई, कोटरवाही होते 5 किमी दूर जंगल के रास्ते से नरहरा जाना पड़ता है। 50 लाख की लागत से इस रास्ते में मुरुम की सड़क बनाई गई है। 2 जगह 100 से 150 मीटर की सीसी रोड भी बनी है। नरहरा का उद्मम पालवाड़ी पहाड़ी है। 

हादसे के बाद भी नहीं चेते
नरहरा में पानी 30 फीट नीचे से गिरता है। युवा वर्ग नहाने व सेल्फी के लिए जान जोखिम में डाल रहे है। पानी की तेज बहाव के बीच जा रहे। ऐसे लोगों को रोकने वाला फिलहाल यहां कोई नहीं है। करीब 9 महीने पहले 10 दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने नरहरा आया एक युवक की डूबने से मौत हो गई थी। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें