5 महीने पहले मृत व्यक्ति के खाते में ठगी:प्रधानमंत्री आवास के लिए मिले थे 75 हजार रुपए, ठगों ने ऑनलाइन गोल्ड खरीदा

​​​​​​​गरियाबंद9 महीने पहले
एडिशनल एसपी संतोष महतो ने बताया कि एक आरोपी टिकम कमार गिरफ्तार कर लिया गया। उसने टीलेश्वर ध्रुव 'टिल्लू' के साथ मिलकर ठगी की है

साइबर ठगों ने व्यक्ति की मौत के 5 माह बाद उसके खाते से ट्रांजेक्शन कर 75 हजार रुपए का ऑनलाइन सोना खरीद लिया। यह रुपए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत व्यक्ति के खाते में आए थे। जब मकान नहीं बना तो नोटिस आने लगा, तब इस ठगी का पता चला। पुलिस को इस मामले में शातिर ठग 'टिल्लू' की तलाश है।

सिटी कोतवाली क्षेत्र के हरदी गांव निवासी देवी सिंह ने खाते में पीएम आवास योजना के तहत खाते में 75 हजार रुपए आए थे। इस बीच अप्रैल 2020 में देवी सिंह की मौत हो गई। आवास योजना में आवेदन की जानकारी परिजनों को नहीं थी। जब कई नोटिस आए तो वे पुलिस के पास पहुंचे।

देवी सिंह के बेटे रोहित ध्रुव ने कहा ऑफिस वाले बार-बार नोटिस भेज रहे हैं।
देवी सिंह के बेटे रोहित ध्रुव ने कहा ऑफिस वाले बार-बार नोटिस भेज रहे हैं।

मरने से पहले देवी सिंह के नाम एक और सिम रजिस्टर्ड कराया
पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि UPI ट्रांजेक्शन के जरिए ऑनलाइन खरीदारी की गई है। यह खरीदारी सितंबर 2021 में की गई। जांच में पता चला कि देवी सिंह के नाम एक और सिम रजिस्टर्ड है, जो कि उनकी मौत से पहले ही जारी करा लिया गया था। इसका पहले भी इस्तेमाल हो रहा था।

दो अलग-अलग वेबसाइट से सोना खरीदा, फिर बेचकर रुपए हड़पे
एडिशनल एसपी संतोष महतो ने बताया कि जांच के दौरान एक आरोपी टिकम कमार गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में पता चला कि उसने टीलेश्वर ध्रुव 'टिल्लू' के साथ मिलकर ठगी को अंजाम दिया है। टिल्लू ही इसका मास्टरमाइंड है। दोनों ने MMCTM और सेप गोल्डलाइन वेबसाइट से सोने की खरीदारी की। फिर उसे दूसरी जगह बेचकर रकम अपने खाते में ट्रांसफर करा लिया। फिलहाल उसकी तलाश की जा रही है।

एडिशनल एसपी संतोष महतो ने बताया कि टिल्लू इलाके का शातिर चोर और निगरानी बदमाश है। वह पहले छोटी-मोटी चोरियां करता था, फिर उसने साइबर क्राइम के तरीके सीख लिए।
एडिशनल एसपी संतोष महतो ने बताया कि टिल्लू इलाके का शातिर चोर और निगरानी बदमाश है। वह पहले छोटी-मोटी चोरियां करता था, फिर उसने साइबर क्राइम के तरीके सीख लिए।

निगरानी बदमाश, ओडिशा में भी ऐसे ही ठगी की
एडिशनल एसपी संतोष महतो ने बताया कि टिल्लू इलाके का शातिर चोर और निगरानी बदमाश है। वह पहले छोटी-मोटी चोरियां करता था। फिर उसने साइबर क्राइम के तरीके सीख लिए। आरोपियों ने ओडिशा में भी ऐसी ठगी की है। वहां की पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है। टिल्लू को भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि गरियाबंद जिले में अपनी तरह का यह पहला मामला है, जब ठग स्थानीय है।

बेटा बोला- हम कहां से लाएंगे आवास बनाने की रकम
देवी सिंह के बेटे रोहित ध्रुव ने कहा कि पिताजी ने प्रधानमंत्री आवास बनवाने के लिए रकम ली थी। अब वह कहां से बनेगा। ऑफिस वाले बार-बार नोटिस भेज रहे हैं। हम गरीब लोग हैं। मुश्किल से ही परिवार का गुजारा होता है। पिता जी के खाते से रकम निकाली गई, इसका भी पता नहीं था। उनके नाम से सिम कार्ड कैसे जारी हुआ, इसकी भी जानकारी नहीं है।

खबरें और भी हैं...