खरीदी में मनमानी:सूखत के नाम पर लिया जा रहा प्रति क्विंटल ढाई किलो अतिरिक्त धान

गोंडाहूर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू हुए अभी सप्ताह भर ही हुए हैं और खरीदी केंद्रों में मनमानी के मामले आने शुरू हो गए। परलकोट के बड़े कापसी धान खरीदी केंद्र में खरीदी प्रभारी की ओर से सूखत के नाम पर किसानों से प्रति क्विंटल ढाई किलो अतिरिक्त धान लिया जा रहा है। यही हाल पीवी-2 के खरीदी केंद्र भी रहा। किसानों ने बताया कि प्रति क्विंटल ढाई किलो अतिरिक्त धान और प्रति क्विंटल 17.50 रुपए हमाली लिया जा रहा। लैम्प्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार हमाली के लिए प्रति क्विंटल 12 रुपए के आस-पास प्रशासनिक व्यय राशि दी जाती है।

इसके बाद भी किसानों से 17.50 रुपए प्रति क्विंटल हमाली वसूला जा रहा है। पीवी-2 केंद्र के हमाली प्रेम मरकाम, कमलेश नेताम, शुकदास नेताम, हेमलाल मरकाम ने बताया कि सरकार से जो पैसा मिलता है, मेहनत के हिसाब से काफी कम है। ऐसे में प्रति क्विंटल किसानों से 17.50 रुपए लिया जा रहा है। अगर किसान बोरा भर के देते, हैं तो हम 12 रुपए प्रति क्विंटल ही लेते हैं। यह भी उनकी सहमति से लिया जाता है।

प्रति क्विंटल 180 रुपए अधिक खर्च पड़ रहा
किसान जगदीश, हरिपद देवनाथ, संतोष, संजीव हालदार ने बताया कि सूखत के नाम पर प्रति क्विंटल ढाई किलो अतिरिक्त धान और हमाली के नाम पर 17.50 रुपए लिए जा रहे हैं। 30 प्रतिशत बारदाना भी किसानों को ही देना पड़ रहा है। ऐसे में उन्हें प्रति क्विंटल 180 रुपए से अधिक खर्च करना पड़ रहा है।

अतिरिक्त धान लेना गलत, ली जाएगी पूरी जानकारी
लैम्प्स बड़े कापसी प्रभारी प्रबंधक पार्थ देवनाथ ने कहा कि सूखत के नाम पर किसानों से अतिरिक्त धान नहीं लेना है। अगर लिया जा रहा है, तो मैं पता करता हूं। हमाली की तो किसानों से काटा के लिए कोई भी चार्ज नहीं लेना है।

खबरें और भी हैं...