पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खेती-किसानी:3597 नए किसानों ने धान बेचने कराया पंजीयन, 5495 हेक्टेयर रकबा भी बढ़ा

जगदलपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में एक दिसंबर से शुरू होने वाली धान खरीदी के लिए विपणन और सहकारिता विभाग में तैयारी शुरू हो चुकी है। धान बिक्री के लिए 31 अक्टूबर को किसानों के पंजीयन का मौका दिया गया है। समर्थन मूल्य में की गई बढ़ोत्तरी के चलते सहकारी समितियों में धान बेचने के लिए नए किसान बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। 16अगस्त से नए किसानों को पंजीयन कराने की दी गई सुविधा के चलते अब तक बस्तर संभाग में 3597 नए किसानों ने पंजीयन करा लिया है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अधिकारियों ने बताया कि पंजीयन के लिए अब भी 1 दिन बाकी है जिसके चलते यह संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में इस साल धान बेचने के लिए करीब 10 हजार नए किसान आगे आएंगे। बैंक के विपणन अधिकारी आरबी सिंह ने बताया कि धान के समर्थन मूल्य में होने वाली बढ़ोत्तरी के चलते हर साल धान बेचने वाले किसानों की संख्या बढ़ रही है। नए किसानों ने अब तक करीब 5 हजार हेक्टेयर से अधिक रकबे का धान बेचने के लिए पंजीयन कराया है। पिछले साल बस्तर संभाग में 1 लाख 70हजार 643 किसानों ने 2 लाख 92 हजार 796 हेक्टेयर में लगी धान की फसल को बेचने के लिए पंजीयन कराया था।

नए किसानों में सबसे अधिक किसान कांकेर जिले के
बस्तर संभाग में इस साल होने वाली धान की खरीदी का फायदा उठाने वाले नए किसानों में सबसे अधिक संख्या कांकेर जिले के किसानों की है। जानकारी के मुताबिक जहां बस्तर जिले में 841, सुकमा 247, कोंडागांव जिले के 117 किसान हैं तो वहीं कांकेर जिले के किसानों की संख्या 2186 है। इसके अलावा नारायणपुर में 105, बीजापुर में 433और दंतेवाड़ा के 155 शामिल हैं। इसके अलावा पंजीयन कराने गए किसानों में अब तक121 किसानों का पंजीयन निरस्त कर दिया गया है। जिसका कारण इन किसानों के द्वारा दी गई गलत जानकारी है।

10 हजार से अधिक किसानों ने जमा नहीं किया आधार
धान बेचने के लिए सरकार ने किसानों को आधार कार्ड को अनिवार्य किया है बावजूद इसके किसान इस नियम का पालन अब भी नहीं कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक बस्तर संभाग में अब तक10 हजार किसानों ने आधार नंबर नहीं दिया है। समितियों के माध्यम से इन किसानों को जल्द से जल्द से जल्द आधार कार्ड जमा करने के लिए कहा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...