पुलिस कैंप पर हमला कर जमीन में गाड़े हथियार:नारायणपुर में पकड़े गए नक्सली से खुला राज, 8 बंदूक जवानों ने बरामद की

जगदलपुर5 महीने पहले
नक्सलियों के छिपाए हथियार पुलिस ने बरामद कर लिए हैं।

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में शनिवार को जवानों ने माओवादियों के जमीन में गड्ढा कर छिपाए 8 हथियार बरामद किए हैं। इन हथियारों का उपयोग 2 साल पहले माओवादियों ने कडेमेटा पुलिस कैंप पर हमला करने के लिए किया गया था। वारदात को अंजाम देने के बाद इन हथियारों को गांव के ही पास जंगल में छिपा दिया था। इनमें एक नग 12 बोर और 7 नग 315 बोर बंदूक है। बताया जा रहा है कि कैंप में हमला के बाद नक्सल ऑपरेशन तेज हो गया था। इसी वजह से माओवादी जमीन में गड्ढा कर छिपाए इन हथियारों को नहीं निकाल पाए थे।

दरअसल, शनिवार को जिला पुलिस बल और कडेमेटा कैंप के जवान एरिया डोमिनेश के लिए निकले हुए थे। इसी बीच एक युवक भटबेड़ा और कडेमेटा के बीच फोर्स को देख कर भागने लगा था। जिसे घेराबंदी कर जवानों ने पकड़ लिया। युवक से पूछताछ की गई जिसने अपना नाम जयसिंह मंडावी (30) बताया। जिसकी पहचान नक्सलियों के जनताना सरकार अध्यक्ष के रूप में की गई। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया। फिर इसे पुलिस थाना लाकर पुछताछ की गई। पुलिस जब जयसिंह की फाइल खंगाल रही थी, तब साल 2022 में कडेमेटा कैंप की घटना में इसका हाथ होना पता चला।

माओवादी को गिरफ्तार किया गया
माओवादी को गिरफ्तार किया गया

जिसके बाद पुलिस ने इस घटना की और डिटेल निकालने के लिए पूछताछ की। जिसके बाद माओवादी ने सारा राज उगल दिया। इसने पुलिस को बताया कि कड़ेमेटा कैंप पर हमला करने के बाद नक्सलियों ने 8 हथियार कैंप के पास ही जंगल में छिपाकर रखे हैं। यह खुद पुलिस को उसी जगह लेकर गया जहां हथियार छिपाकर रखे हुए थे। जिसके बाद जमीन खोद कर जवानों ने 8 हथियार बरामद किए हैं। गिरफ्तार नक्सली ने पुलिस को बताया कि यह मिलिशिया सदस्यों के हथियार हैं। कैंप पर हमला कर भाग रहे थे। पकड़ने जाने के डर से जमीन में छिपा दिए थे। इलाके में लगातार सर्चिंग की जा रही थी, इसी वजह से इन हथियारों को नहीं निकाला जा सका था।

प्रेस वार्ता लेकर किया खुलासा
जिले के DSP विनय कुमार ने प्रेस वार्ता लेकर इस मामले का खुलासा किया है। इन्होंने बताया कि, गिरफ्तार माओवादी पिछले कुछ सालों से माओवाद संगठन से जुड़कर काम कर रहा था। कई वारदातों में भी शामिल रहा है। गिरफ्तारी के बाद इसने बहुत से राज खोले हैं। गिरफ्तार नक्सली के बताए अनुसार स्पॉट पर गए थे, जहां से 8 बंदूकों को बरामद किया गया है।

खबरें और भी हैं...