पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

केंद्रीय गृहमंत्री और सीएम का संकेत:रणनीतिक बैठक के बाद अमित शाह ने कहा- घुसकर मारेंगे, भूपेश बघेल बोले-अब आर या पार

जगदलपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक के दौरान शाह और बघेल। - Dainik Bhaskar
बैठक के दौरान शाह और बघेल।

नक्सली हमले के बाद जगदलपुर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दो टूक कहा कि नक्सलियों को उनकी मांद में घुसकर मारेंगे। वहीं, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कहा है कि अब आर या पार होगा। यह बयान उस बैठक के बाद निकला है कि जिसमें केंद्रीय गृहमंत्री और मुख्यमंत्री के साथ सर्किट हाउस में तमाम आला अफसर मौजूद थे।

एक घंटे चली इस बैठक में आईबी डायरेक्टर अरविंद कुमार, विशेष सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार, सीआरपीएफ डीजी कुलदीप सिंह, डीजीपी डीएम अवस्थी मौजूद थे। बैठक में पहले अफसरों ने गृहमंत्री को बस्तर में चल रहे कामों की जानकारी दी, फिर टेकलगुड़ा में हुए हमले की जानकारी दी। गृहमंत्री अमित शाह ने फोर्स के काम पर संतुष्टि जाहिर की है।

गृहमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि अभी जिस पैटर्न पर फोर्स काम कर रही है, उसी पैटर्न पर काम जारी रखा जाए। ऑपरेशन के साथ विकास का काम अनिवार्य रूप से किया जाएगा। इधर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी नक्सलियों के खिलाफ उनकी मांद में घुसकर ऑपरेशन को जारी रखने की बात कही है। आर या पार लड़ाई लड़ने के संकेत दिए हैं। भूपेश बघेल ने कहा कि फोेर्स के जवानों और अफसरों पर लापरवाही जैसी कोई बात नहीं है।

अफसरों ने बताया- बौखलाहट का नतीजा
इधर, बस्तर में काम करने वाले अफसरों ने बैठक में गृहमंत्री अमित शाह को बताया है कि नक्सलगढ़ कहे जाने वाले नक्सलियों की मांद में फोर्स लगातार नए कैंप खोल रही है। कैंपों के खुलने के साथ ही नक्सलियों का कोर एरिया घट रहा है और अंदरूनी इलाकों में सड़कें, बिजली, फोन कनेक्टिविटी बढ़ रही है। ऐसे में नक्सली बौखलाए हुए हैं। अफसरों ने गृहमंत्री और मुख्यमंत्री को बताया कि टेकलगुड़ा और उसके आसपास का इलाका नक्सलियों के कब्जे वाला इलाका है और पहली बार फोर्स यहां घुसी है।

दिए निर्देश: शहीद जवानों के परिजनों को मिलेगी न्यूनतम 80 लाख रुपए की सहायता और एक आश्रित को नौकरी

राज्य सरकार ने तर्रेम मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिस अधिकारियों और जवानों के लिए एक्सग्रेशिया की घोषणा कर दी है। इसके मुताबिक हर शहीद के परिवार को न्यूनतम 80 लाख रुपए की आर्थिक सहायता तथा परिवार के एक सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति दी जाएगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विभागीय अधिकारियों को आर्थिक सहायता और अनुकंपा नियुक्ति की प्रक्रिया शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिए है।

आर्थिक सहायता के तहत राज्य शासन का विशेष अनुग्रह अनुदान , सामूहिक विकल्प विशेष अनुदान, शहीद सम्मान निधि , समूह बीमा राशि एवम अन्य आर्थिक सहायता राशि शामिल है। । इस मुठभेड़ में केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल के शहीदों को राज्य शासन द्वारा विशेष अनुग्रह अनुदान एवम सामूहिक बीमा विकल्प विशेष अनुदान के रूप में कुल 45.40 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें