पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नक्सलियों का दावा:ऑटोमेटिक रायफल, यूबीजीएल, 2 हजार गोलियां ले गए; पर्चा और तस्वीर जारी कर नक्सलियों ने टेकलगुड़ा हमले से लूटे गए हथियारों की जानकारी दी

जगदलपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 11 एके-47, 9 वॉकी-टॉकी, 46 मैग्जीन, ट्रायपोर्ट, मोबाइल व घड़ियां भी लूटीं

टेकलगुड़ा हमले में जवानों की शहादत के बीच नक्सलियों ने शहीद हुए जवानों से लूटे गए हथियारों की जानकारी सार्वजनिक कर दी है। नक्सलियों ने जवानों से 14 हथियारों के साथ दो हजार गोलियां, 47 मैग्जीन सहित अन्य असलहा लूटा है। इतने असलहे में नक्सली हिड़मा की मदद और सुरक्षा के लिए भी एक पूरी मिलिट्री प्लाटून खड़ी कर सकते हैं।

अभी नक्सलियों की ओर से जिन हथियारों की तस्वीर जारी की गई है उसमें ऑटोमेटिक रायफल से लेकर कई बड़े हथियार भी शामिल हैं। इनमें सबसे खतरनाक हथियार एके-47 और यूबीजीएल है। नक्सल मामलों के जानकारों की मानें तो नक्सलियों के मिलिट्री प्लाटून में 10 जवान और एक कमांडर होते हैं। मिलिट्री प्लाटून को ही आधुनिक और उम्दा हथियार दिए जाते हैं जबकि सुरक्षाबलों के मिलिट्री प्लाटून में 30 जवान और एक कमांडर होता है।

नक्सलियों ने टेकलगुड़ा से जितने हथियार लूटे हैं वह नक्सलियों की एक मिल्ट्री प्लाटून के लिए काफी है। हथियारों को लूटने के बाद इसे किसे दिया जाएगा, यह नक्सलियों की समीक्षा बैठक में तय होता है। ऐसे में माना जा रहा है कि अभी फोर्स का दबाव नक्सली लीडर हिड़मा की तरफ है। ऐसे में इन हथियारों को हिड़मा की सुरक्षा के लिए दिया जा सकता है या फिर हाल ही में मिलिट्री ट्रेनिंग ले चुके नए लड़ाकों को हथियार दिए जा सकते हैं।

जानिए नक्सलियों ने क्या लूटा
नक्सलियों की ओर से जारी पर्चे में इतना बताया गया है कि 14 हथियारों के साथ दो हजार गोलियां मुठभेड़ के बाद अपने कब्जे में ले ली है, लेकिन नक्सलियों ने लूटे हुए हथियारों की जो तस्वीर डाली है उसमें 11 एके- 47, 1 यूबीजीएल, 1 दो इंच मोर्टार, एक बयानाकुलर, कंपास व गोलियां दिख रही हैं। इसके अलावा 9 वॉकी-टॉकी, 46 मैग्जीन, ट्रायपोर्ट, मोबाइल व घड़ियां शामिल हैं।

आधुनिक हथियार फोर्स से ही लूटे
इधर नक्सलियों के पास जो आधुनिक हथियार मौजूद हैं इनमें से ज्यादातर बंदूकें व अन्य हथियार अलग-अलग घटनाओं के बाद जवानों से लूटी हुई हैं। नक्सलियों के पास कंट्री मेड (देसी) हथियार ज्यादा हैं जो बड़े हमले में कारगर नहीं हैं। ऐसे में फोर्स पर हमले के लिए जवानों से ही लूटे हथियारों का उपयोग नक्सली करते हैं जबकि देसी हथियारों का उपयोग छोटी मोटी घटनाओं के लिए किया जाता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें