नक्सलियों को ऑपरेशन प्रहार-3 का खौफ:पर्चा जारी कर कहा- पुलिस ड्रोन से माओवादियों को निशाना बना रही, गुरिल्ला टीम को जहरीला खाना भी भेजा; IG बोले- ये झूठी कहानी बना रहे हैं

जगदलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।

नक्सलियों के मध्य रीजनल ब्यूरो प्रताप ने सोमवार को प्रेस नोट जारी कर पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रताप ने कहा कि केंद्र सरकार व पुलिस ऑपरेशन प्रहार 1 और 2 के बाद अब ऑपरेशन प्रहार-3 चलाने की तैयारी कर रही है। इससे पहले गुरिल्ला टीम पर ड्रोन बम से हमला किया गया है। साथ ही पुलिस के द्वारा ऑपरेशन प्रहार के तहत जहरीला खाना भी भेजा गया है। पुलिस सिलगेर कैंप को ऑपरेशन प्रहार-3 के लिए लॉन्चिंग पैड के रूप में तैयार कर रही है। इस मामले में बस्तर IG सुंदरराज पी ने कहा कि नक्सलियों के खिलाफ 24 घंटे ऑपरेशन चलता है।

बोत्तलंका में किया ड्रोन से हमला
नक्सली प्रवक्ता प्रताप ने कहा कि 19 अप्रैल को पुलिस ने दक्षिण बस्तर के बोत्तलंका के जंगलों पर नक्सलियों की गुरिल्ला टीम पर ड्रोन से हमला किया था। इस हमले में किसी भी नक्सली की जान नहीं गई। नक्सलियों ने ड्रोन की तस्वीर भी मीडिया से साझा की थी। बस्तर IG सुंदरराज पी ने ड्रोन हमले की बात को नक्सलियों की झूठी कहानी बताया है। उन्होंने कहा कि पुलिस को बदनाम करने की नक्सलियों की यह चाल है।

नक्सली प्रवक्ता प्रताप ने प्रेस नोट जारी कर पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।
नक्सली प्रवक्ता प्रताप ने प्रेस नोट जारी कर पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

नक्सली बोले - जहरीला खाना भेज रही पुलिस
नक्सलियों का कहना है कि पुलिस उनकी सप्लाई चेन में घुस गई है और गुरिल्ला टीम तक पहुंचने वाले खाने में जहर मिला रही है। जहरीला खाना नक्सलियों तक पहुंच रहा है। गुरिल्ला को नुकसान पहुंचाने के लिए पुलिस अनेकों षड्यंत्र रच रही है। IG सुंदरराज पी ने कहा कि नक्सलियों को जहरीला खाना पहुंचाने वाली बात झूठी है। पुलिस जो काम करती है वो पीठ पीछे नहीं बल्कि सामने से करती है। हालांकि, नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन निरंतर चलता रहता है।

सिलगेर कैंप का भी किया जिक्र
हाल ही में पुलिस ने सुकमा-बीजापुर जिले की सीमा पर एक नया कैंप बनाया है। सिलगेर में पुलिस कैंप खुलने से इलाके में ऑपरेशन और तेज हो गया है। हालांकि, इस पुलिस कैंप का इलाके के लोगों ने भी जमकर विरोध किया था। नक्सली प्रवक्ता प्रताप ने कहा कि पुलिस ऑपरेशन प्रहार-3 में सिलगेर कैंप को लॉन्चिंग पैड के रूप में इस्तेमाल करेगी।

बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चल रहा है। 2017-18 में नक्सल ऑपरेशन का नाम ऑपरेशन प्रहार रख दिया गया था। माओवादियों के खिलाफ कभी ऑपरेशन रुका ही नहीं तो तीसरा ऑपरेशन कहां से शुरू होगा। पुलिस नक्सलियों के खिलाफ लगातार ऑपरेशन चला रही है। नक्सली जब भी पर्चा जारी करते हैं उनमें ऑपरेशन प्रहार 1, 2, 3 का जिक्र करते हैं। -सुंदरराज पी, बस्तर IG

खबरें और भी हैं...