सुकमा में चोरों ने भगवान को चुराया:फिर झाड़ियों में छिपाकर रखा, पुलिस को मिली जानकारी तो ढूंढ निकाला शिवलिंग, की स्थापना

जगदलपुर/सुकमा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुकमा जिले में चोरों ने दिन दहाड़े मंदिर से शिवलिंग की चोरी की। - Dainik Bhaskar
सुकमा जिले में चोरों ने दिन दहाड़े मंदिर से शिवलिंग की चोरी की।

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में चोरों ने दिनदहाड़े मंदिर से शिवलिंग की चोरी की। फिर शिवलिंग को झाड़ियों में ले जाकर छिपा दिया था। जब पुलिस को खबर मिली तो 2 घंटे के अंदर शिवलिंग को ढूंढ निकाला गया। जिसके बाद पूरे विधि-विधान से शिवलिंग की फिर से मंदिर में स्थापना की गई। मामले जिले के सुकमा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, सुकमा के महादेव डोंगरी (डोंगरी का मतलब पहाड़) में स्थित भगवान भोलेनाथ का मंदिर स्थित है। मंगलवार की दोपहर मंदिर के पुजारी जब खाना खाने के लिए घर गए थे। कुछ देर बाद जब वे वापस लौटे तो देखा मंदिर में शिवलिंग नहीं था। जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना फौरन मंदिर समिति के सदस्यों को दी। मंदिर से शिवलिंग चोरी होने की सूचना सोशल मीडिया में भी जमकर वायरल हुई थी। जानकारी मिलने के बाद सुकमा पुलिस हरकत में आई।

जवानों की टीम मंदिर पहुंची।
जवानों की टीम मंदिर पहुंची।

जिले के SP सुनील शर्मा समेत जवानों की टीम बुधवार को मंदिर पहुंची। आस-पास के लोगों से पूछताछ की गई। वहीं मंदिर के आस-पास स्थित झाड़ियों में भी तलाशी ली गई। मंदिर से लगभग 60 से 70 मीटर की दूरी पर झाड़ियों में पुलिस को शिवलिंग मिला। जिसे SP सुनील शर्मा खुद लेकर आए और पूरे विधि-विधान से मंदिर में फिर से शवलिंग की स्थापना की गई। बताया जा रहा है कि 15 जनवरी को भंडारा का भी आयोजन किया गया है।

SP सुनील शर्मा शिवलिंग को लाते हुए।
SP सुनील शर्मा शिवलिंग को लाते हुए।

शिवरात्रि में लगता है भक्तों का तांता
भगवान भोलेनाथ का यह मंदिर काफी पुराना है। रोजना भक्त मंदिर में भोलेनाथ के दर्शन के लिए भी पहुंचते हैं। यहां शिवरात्रि के समत भी भक्तों की जबरदस्त भीड़ लगती है।

खबरें और भी हैं...