बस्तर में आज और कल हो सकती है हल्की बारिश:धान रोपाई का समय निकला; जगदलपुर, दंतेवाड़ा और कांकेर में औसत से कम बरसा पानी, बीजापुर-सुकमा में औसत से ज्यादा बारिश

जगदलपुरएक वर्ष पहले
बस्तर संभाग के कई जिलों में शुक्रवार की सुबह से मौसम खुला हुआ है। तस्वीर दंतेवाड़ा जिले के दंतेश्वरी सरोवर के पास की है।

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में 15 जुलाई तक कहीं औसत से कम तो कहीं ज्यादा बारिश दर्ज की गई है। बीजापुर और सुकमा जिले में औसत से ज्यादा बारिश हुई है। सुकमा ही ऐसा जिला है जहां इस मानसून में बादल जमकर बरसे हैं। जगदलपुर, दंतेवाड़ा, कांकेर में बहुत कम बारिश हुई है। इन जिलों के किसानों की चिंता भी बढ़ गई है। मौसम विभाग ने 16 और 17 जुलाई को बारिश न के बराबर होने की संभावना जताई है।

इन जिलों में आज और कल हो सकती है हल्की बारिश
बस्तर संभाग के कोंडागांव व बस्तर जिले में शुक्रवार को एक या दो ही स्थानों में बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा बीजापुर, सुकमा, दंतेवाड़ा, नारायणपुर व कांकेर के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। इन जिलों में सुबह से ही मौसम खुला हुआ है। कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों के अनुसार 15 जुलाई तक रोपाई का अच्छा समय था। लेकिन कई इलाकों में रोपाई के अनुकूल बारिश नहीं हुई है।

आंकड़ों से जानिए कितने MM हुई बारिश

जिलाकितनी हुईकितनी होनी थीप्रतिशत कम या ज्यादा
बस्तर301.6405.5.-25
बीजापुर425.3387.5+10
दंतेवाड़ा296.9398.7-26
कांकेर324.9389.2-17
कोंडागांव348.5369.4-6
नारायणपुर425.8369.5+15
सुकमा830.3347.3+139

जगदलपुर के ऊपर बन रही एक द्रोणिका
मौसम वैज्ञानिक एपी चंद्रा ने बताया कि, एक चक्रवाती घेरा विदर्भ के ऊपर 4.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। पूर्व- पश्चिम शियर जोन 19 डिग्री उत्तर में 2.1 किलोमीटर से 7.6 किलोमीटर ऊंचाई पर है। 16 जुलाई को प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...