विधायक के खिलाफ बयानबाजी करने पर नोटिस:कांग्रेस ने अजय सिंह से 7 दिन में मांगा जवाब; MLA पर लगाए थे भ्रष्टाचार के आरोप

जगदलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
युवा आयोग के सदस्य अजय सिंह ने कांग्रेस विधायक विक्रम मंडावी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। - Dainik Bhaskar
युवा आयोग के सदस्य अजय सिंह ने कांग्रेस विधायक विक्रम मंडावी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

छत्तीसगढ़ युवा आयोग के सदस्य और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अजय सिंह को अपनी ही पार्टी के कांग्रेसी विधायक पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाना भारी पड़ गया है। अब कांग्रेस हाईकमान ने अजय सिंह को कारण बताओ नोटिस थमा दिया है। अजय से 7 दिनों में लिखित में जवाब मांगा गया है। कांग्रेस पार्टी के प्रभारी संगठन महामंत्री चंद्रशेखर शुक्ला ने कहा कि अनगर्ल बयानबाजी से पार्टी की छवि खराब होती है। जो कि अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है।

उन्होंने कहा कि बीजापुर विधानसभा क्षेत्र के पार्टी संगठन से निर्वाचित विधायक विक्रम मंडावी पर भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप लगाया गया है। इसकी जानकारी मीडिया के माध्यम से मिली। इसलिए PCC अध्यक्ष मोहन मरकाम के आदेशानुसार अजय सिंह को कारण बताओ नोटिस थमाया गया है। यदि 7 दिनों में लिखित में जवाब नहीं मिलता है तो एकपक्षीय अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस हाईकमान ने अजय सिंह को कारण बताओ नोटिस थमा दिया है।
कांग्रेस हाईकमान ने अजय सिंह को कारण बताओ नोटिस थमा दिया है।

अजय ने दिया था यह बयान
दरअसल, कुछ दिन पहले छत्तीसगढ़ युवा आयोग के सदस्य अजय सिंह ने प्रेस वार्ता लेकर बीजापुर के विधायक विक्रम मंडावी पर कमीशनखोरी कर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि विधायक पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लीन हैं। बोर उत्खनन और टैंकर वितरण मामले में लाखों रुपए का हेरफेर किए हैं। साथ ही 27 लाख रुपए के किसी निर्माण काम में 7 लाख रुपए का निर्माण करवाकर 20 लाख रुपए गबन कर लिए हैं।

अजय ने बयान देते हुए कहा था कि निर्माण कार्यों के लिए निविदा में नियमों की अवहेलना और भ्रष्टाचार को लेकर जब भी वे जिले के अफसरों से मिले, तो अफसर उनसे यही कहे कि जो कुछ भी हो रहा है विधायक के दबाव में हो रहा है। यानी अफसर भी मान रहे हैं कि विधायक के दबाव में उनके भी हाथ बंधे हुए हैं। विधायक विक्रम मंडावी से मेरे रिश्ते बुरे नहीं हैं। बस हमारे विचार नहीं मिलते। मैं चाहता हूं कि जनता का पैसा सीधा जनता तक पहुंचे।