15 लाख के 2 इनामी नक्सलियों का स्मारक ध्वस्त:दंतेवाड़ा की DRG ने सुकमा जिले में घुस तोड़ा, हार्डकोर माओवादी विनोद और गुंडाधुर का था स्मारक

जगदलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दंतेवाड़ा के DRG जवानों ने 15 लाख रुपए के दो इनामी माओवादियों के तीन स्मारक को ध्वस्त किया है। - Dainik Bhaskar
दंतेवाड़ा के DRG जवानों ने 15 लाख रुपए के दो इनामी माओवादियों के तीन स्मारक को ध्वस्त किया है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के DRG के जवानों ने 15 लाख रुपए के 2 इनामी नक्सलियों के 3 स्मारक को ध्वस्त किया है। हार्डकोर नक्सली विनोद और गुंडाधुर की मौत के बाद माओवादियों ने इनकी याद में सुकमा जिले के नक्सलगढ़ गोंदेरास में कुल तीन स्मारक बनाए हुए थे। वहीं नक्सल ऑपरेशन पर निकली दंतेवाड़ा की DRG और दंतेश्वरी फाइटर्स की टीम को यह कामयाबी मिली है। विनोद 10 लाख तो वहीं गुंडाधुर 5 लाख रुपए का इनामी नक्सली था। मामला गादीरास थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को दंतेवाड़ा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि सुकमा-दंतेवाड़ा जिले की सरहदी इलाके में नक्सलियों की मूवमेंट होने वाली है। इसी सूचना के आधार पर दंतेवाड़ा जिले से DRG जवानों की एक टुकड़ी को सरहदी इलाके में नक्सल ऑपरेशन पर निकाला गया था। इस दौरान घने जंगल और पहाड़ों से सर्चिंग करते हुए जवान सुकमा जिले के गोंदेरास गांव पहुंच गए। यहां गांव के ही करीब नक्सलियों ने विनोद और गुंडाधुर के तीन स्मारक बना रखे थे। जिसे DRG की टीम ने ध्वस्त कर दिया।

नक्सलियों ने गोंदेरास गांव में नक्सली गुंडाधुर और विनोद का नक्सली स्मारक बना रखा था।
नक्सलियों ने गोंदेरास गांव में नक्सली गुंडाधुर और विनोद का नक्सली स्मारक बना रखा था।

ऐसे हुई थी दोनों नक्सलियों की मौत
गुंडाधुर और विनोद दक्षिण बस्तर के खूंखार माओवादियों में से एक थे। विनोद झीरम की घटना और दंतेवाड़ा के विधायक भीमा मंडावी की हत्या का मास्टरमाइंड था। सिर्फ दंतेवाड़ा जिले के थानों में ही विनोद पर कुल 40 से ज्यादा नामजद अपराध दर्ज थे। दरभा डिवीजन के इंचार्ज विनोद हेमला की गंभीर बीमारी के चलते इसी साल 10 जुलाई को मौत हो गई। वहीं साल 2019 में सुकमा पुलिस ने एक एनकाउंटर में 5 लाख के खूंखार माओवादी गुंडाधुर को ढेर किया था।

दंतेवाड़ा जिले की दंतेश्वरी फाइटर्स की महिला कमांडो भी शामिल थीं।
दंतेवाड़ा जिले की दंतेश्वरी फाइटर्स की महिला कमांडो भी शामिल थीं।

दंतेवाड़ा में डेढ़ साल में इन नक्सलियों के स्मारक तोड़े गए

  • 19 जुलाई 2019 हिरोली क्षेत्र में नक्सली हुर्रा व गुड्डी के बना रहे स्मारक को जवानों ने तोड़ा था।
  • 17 नवंबर 2019 पोटाली में बने नक्सली वर्गीस के स्मारक को महिला DRG ने ध्वस्त किया।
  • 3 मई 2020 कोंडासावली इलाके के बेनपल्ली में नक्सली स्मारक को CRPF 231 बटालियन के जवानों ने तोड़ा था।
  • 20 जुलाई 2020 ग्रामीणों पर दबाव डालकर हिरोली के जंगल में गुड्डी का स्मारक नक्सली बनवा रहे थे। इसे ध्वस्त किया था।
  • 22 जुलाई 2020 नीलावाया में नक्सली गुंडाधुर का स्मारक बनवाने नक्सलियों ने ग्रामीणों से चंदा लिया था। इसे तोड़ा गया।
  • 28 जुलाई 2020 गुमियापाल में नक्सली पोदिया के स्मारक को जवानों ने तोड़ा था।
  • 8 मार्च 2021 महिला कमांडो ने जबेली में 5 लाख की इनामी नक्सली भीमे उर्फ आयते के स्मारक को ध्वस्त किया था।
  • 7 मई 2021 इंद्रावती नदी पार कुर्सीबहार में बने 5 लाख की इनामी नक्सली सहिदा के स्मारक को जवानों व ग्रामीणों ने मिलकर तोड़ा था।