नवरात्र में खुलेगा मां दंतेश्वरी का मंदिर:मंदिर कमेटी की दूसरी बैठक में लिया गया निर्णय, कोरोना नियमों का करना होगा पालन; सांस्कृतिक कार्यक्रम पर रहेगी रोक

जगदलपुर/दंतेवाड़ा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रद्धालुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए इस शारदीय नवरात्र मां दंतेश्वरी का मंदिर खोलने का निर्णय लिया गया है। - Dainik Bhaskar
श्रद्धालुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए इस शारदीय नवरात्र मां दंतेश्वरी का मंदिर खोलने का निर्णय लिया गया है।

शारदीय नवरात्र पर्व को लेकर मंगलवार को दंतेवाड़ा में मंदिर कमेटी की दूसरी बैठक हुई। कलेक्टर दीपक सोनी व विधायक देवती कर्मा की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में श्रद्धालुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए दंतेश्वरी का मंदिर खोलने का निर्णय लिया गया है। कोरोना नियमों का पालन कराते हुए भक्तों को मंदिर में प्रवेश कराया जाएगा। इधर, मंदिर कमेटी ने भक्तों से अपील भी की है कि, कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए पैदल मंदिर न आएं।

17 सितंबर को मां दंतेश्वरी मंदिर कमेटी की पहली बैठक रखी गई थी। इसमें कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए, सर्व सहमति से मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। यह दूसरा साल और चौथा नवरात्र था, जिसमें भक्तों के लिए आराध्य देवी मां दंतेश्वरी मंदिर का पट बंद रहता। लेकिन, भक्तों की आस्था का ख्याल रख कमेटी ने दूसरी बैठक रख सर्व सहमति से पूरे 9 दिनों तक मंदिर खोलने का निर्णय लिया है।

कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि कोरोना के कारण इस बार नवरात्र पर्व पर मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगाई गई थी। भक्तों को माता के लाइव दर्शन करवाए जाते। लेकिन, अब नवरात्र पर श्रद्धालु मंदिर पहुंच माता के दर्शन कर सकेंगे। मगर मीना बाजार, सांस्कृतिक कार्यक्रम की इजाजत नहीं होगी।

हर साल पहुंचते हैं हजारों श्रद्धालु
बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के मंदिर में नवरात्र के दिनों में हजारों श्रद्धालु पहुंचते हैं। पहले दिन से ही यहां दूर-दराज से श्रद्धालु पहुंचने शुरू हो जाते हैं। ज्यादा भीड़ पंचमी के दिन में देखने को मिलती है। मंदिर के गर्भगृह से लेकर मंदिर के बाहर कई किलोमीटर तक श्रद्धालुओं की लाइन भी लगी होती है। केवल दंतेवाड़ा जिले या फिर बस्तर से ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों से भी भक्त माता के दर्शन करने मंदिर पहुंचते हैं।

खबरें और भी हैं...