पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बड़ी लापरवाही:कोरोना के लक्षण होने के बाद भी बंदी को मेडिसिन वार्ड में किया भर्ती, मिला पॉजिटिव, 66 लोग संपर्क में आए

जगदलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पॉक्सो एक्ट का फरार आरोपी था भर्ती बंदी, जिस कोर्ट में पेश किया गया था वहां सैनिटाइजेशन शुरू

मेकॉज के सर्जरी डिपार्टमेंट के बाद अब मेडिसिन डिपार्टमेंट में भर्ती एक बंदी कोरोना पॉजिटिव निकला हैं। इसके बाद पूरे शहर में हडकंप मच गया है। सीजेएम कोर्ट, परपा थाना और मेकॉज के मेडिसिन वार्ड को सैनिटाइज किया जा रहा है। इसके अलावा महारानी हॉस्पिटल, मेडिकल कॉलेज, बोधघाट और परपा थाने के दर्जनों स्टाफ को क्वारेंटाइन करके सैंपल लिए जा रहे हैं। बंदी के साथ कोर्ट में पेश हुए वकील के भी सैंपल लिए जाएंगे।
वहीं आरोपी को जिस जुए के फड़ से पकड़ा गया था और उसके साथ जुआ खेलने वाले लोगों को भी खोजकर उनका भी कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा। पहली ही पड़ताल में पुलिसकर्मियों और मेडिकल स्टाफ को मिलाकर कुल 66 लोगों को कोरोना संदिग्ध के तौर पर रखा गया है इनमें बोधघाट थाने के 9 सिपाही, परपा थाने के थानेदार समेत 25 पुलिसकर्मी, मेडिसिन डिपार्टमेंट के 32 डाॅक्टर, आरोपी के साथ जुआ खेलने वाले 4 लोग शामिल हैं। इन सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है।
कर्मचारी बोले- मरीज के संपर्क में आए स्टाफ से भी ड्यूटी करवा रहे
इधर कर्मचारियों ने अब मेकॉज प्रबंधन के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है। सोमवार को मेकॉज के कई कर्मचारी हड़ताल पर जाने की तैयारी करने लगे। कर्मचारियों का कहना था कि लगातार कोरोना संदिग्ध लोगों को बिना कोरोना टेस्ट करवाए ही नान कोविड हॉस्पिटल में भर्ती किया जा रहा है। अब तक सर्जरी डिपार्टमेंट, माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट और मेडिसिन डिपार्टमेंट में ऐेसे ही तीन मामले सामने आ चुके हैं। यही नहीं, कोरोना मरीज के संपर्क में आने वाले स्टाफ को क्वारेंटाइन न करते हुए ड्यूटी पर बुलाया जा रहा है। कर्मचारियों का कहना था कि हॉस्पिटल की मेट्रन जबरन पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आ चुके स्टाफ पर बड़े अफसरों के नाम का हवाला देकर ड्यूटी पर बुला रही हैं। ऐसे में अब कर्मचारी प्रबंधन से जुड़े अफसरों और लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे और काम पर नहीं आने की बात कहने लगे। इस बीच मौके पर एसडीएम पहुंची और कर्मचारियों को समझाकर शांत करवाया।

ऐसे समझें लापरवाही...महारानी के बाद मेकॉज के डॉक्टरों ने बंदी की तकलीफ को हल्के में लिया और मेडिसिन वार्ड में भर्ती कर दिया
23 जुलाई को परपा पुलिस ने 5 लोगों को जुआ खेलते पकड़ा, इन 5 में से एक तेतरकुटी निवासी युवक बोधघाट थाने में दर्ज पाक्सो एक्ट का फरार आरोपी था। परपा पुलिस की सूचना पर बोधघाट पुलिस आरोपी को जेल भेजने से पहले महारानी हॉस्पिटल में मुलाहिजा कराने पहुंची। यहां आरोपी उल्टियां करने लगा, साथ ही खांसते हुए सांस लेने में दिक्कत की बात कही। महारानी हॉस्पिटल के डॉक्टर ने तत्काल बंदी को मेकॉज रेफर कर दिया। इस दौरान उसकी पर्ची पर कोविड के लक्षण वाली बात ही नहीं लिखी। आरोपी मेकॉज पहुंचा। यहां उसने फिर से वही शिकायत दोहराई लेकिन किसी भी डॉक्टर का ध्यान कोरोना की तरफ नहीं गया और उसे नान कोविड वाले मेडिसिन वार्ड में भर्ती कर दिया गया। 24 की शाम से 25 जुलाई सुबह तक उसका कोरोना चेकअप भी नहीं हुआ। फिर अचानक उसे कोरोना संदिग्ध मानकर सैंपल लिए गए। तब भी उसे कोरोना के सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती नहीं किया गया। आरोपी की कोरोना रिपोर्ट 26 जुलाई की देर शाम मेकॉज प्रबंधन को मिली। इसके बाद भी उसे कोविड हॉस्पिटल में शिफ्ट नहीं किया गया और 27 जुलाई सोमवार सुबह तक उसे मेडिकल वार्ड में ही रखा गया। मेडिकल वार्ड में आरोपी का इलाज करने वाले स्टाफ ने दूसरे मरीजों का इलाज भी किया। इससे पहले भी सर्जरी डिपार्टमेंट में एक कोरोना पॉजिटिव को भर्ती कर दिया गया था और 3 दिनों तक उसका इलाज किया गया। मरीज को रायपुर रेफर किया गया तब वहां पॉजिटिव आया।

मेकॉज की एक और कर्मचारी संक्रमित
इधर मेकॉज के एक और वार्ड आया कोरोना पॉजिटिव निकली है, बताया जा रहा है कि वह सर्जरी डिपार्टमेंट की है। वह उस स्टाफ के साथ बस में हॉस्पिटल से घर तक आना-जाना करती थी जो पहले पॉजिटिव निकली थी। ऐसा माना जा रहा है कि यह वार्ड आया उसी स्टाफ के संपर्क में आने से पॉजिटिव निकली है।

लैब बंद, पहली बार कोरोना की जांच नहीं हुई
मेकॉज के माइक्रोबॉयोलॉजी डिपार्टमेंट में कोरोना की जांच की जा रही थी। तीन महीने में पहली बार सोमवार को कोरोना की जांच नहीं हुई। सभी सैंपल रखे गए हैं। यहां एक टेक्नीशियन के संक्रमित पाए जाने के बाद लैब को बंद कर दिया गया था। अब इस डिपार्टमेंट को सैनिटाइज किया जा रहा है। मंगलवार से जांच शुरू हो जाएगी।

पथरागुड़ा, नयापारा के कुछ हिस्से कंटनमेंट जोन
इधर रविवार को शहर और उसके आसपास के इलाके में सात कोरोना पॉजिटिव मरीज निकलने के बाद पथरगुड़ा, आड़ावाल का नयापारा और राजेंद्र नगर वार्ड को सील कर दिया गया है। सीएसएपी हेमसागर सिदार ने बताया कि इन स्थानों से कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। ऐसे में इन इलाकों को सील करते हुए कंटेनमेंट जोन में रखा गया है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें