इंद्रावती के किनारे 'हाय-ओ-रब्बा' पर डांस:चित्रकोट, तीरथगढ़, सातधार जल प्रपात से लेकर मंदिरों में उमड़ी रही भीड़, बस्तर में 2022 का जश्न

जगदलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केशकाल के टाटामारी टूरिस्ट प्लेस में भी प्राकृतिक खूबसूरती का आनंद लेने लोग पहुंचे। यहां भी दिनभर जश्न का माहौल रहा। - Dainik Bhaskar
केशकाल के टाटामारी टूरिस्ट प्लेस में भी प्राकृतिक खूबसूरती का आनंद लेने लोग पहुंचे। यहां भी दिनभर जश्न का माहौल रहा।

छत्तीसगढ़ के बस्तर में भी नव वर्ष की धूम देखने को मिली। बस्तर के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर सुबह से ही पर्यटक पहुंचते रहे और अपने-अपने तरीके से नए साल का जश्न मनाया। एशिया का नियाग्रा कहे जाने वाले चित्रकोट जल प्रपात से लेकर तीरथगढ़ और पर्यटन नगरी बारसूर के सातधार जल प्रपात में दिन भर जश्न का माहौल देखने को मिला। इधर इंद्रवती नदी के किनारे डीजे बजा कर 'हायो रब्बा' गाने पर युवा थिरकते नजर आए। वहीं केशकाल के टाटामारी में भी पर्यटकों की भीड़ देखने को मिली।

इन 8 तस्वीरों में देखिए नए साल का जश्न

तीरथगढ़ जल प्रपात में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी रही। अपने परिवार और दोस्तों के साथ पहुंचे लोगों ने खूब मौज मस्ती की।
तीरथगढ़ जल प्रपात में पर्यटकों की भीड़ उमड़ी रही। अपने परिवार और दोस्तों के साथ पहुंचे लोगों ने खूब मौज मस्ती की।
पर्यटन नगरी कहे जाने वाले बारसूर के गणेश मंदिर में भी भक्त पहुंचे। लोगों का मानना है कि किसी भी शुभ काम को करने से पहले गणेश जी की पूजा की जाती है। पूरा साल खुशियों से भरा रहे इस लिए साल के पहले गणेश जी के दर्शन कर आशीर्वाद लिए हैं।
पर्यटन नगरी कहे जाने वाले बारसूर के गणेश मंदिर में भी भक्त पहुंचे। लोगों का मानना है कि किसी भी शुभ काम को करने से पहले गणेश जी की पूजा की जाती है। पूरा साल खुशियों से भरा रहे इस लिए साल के पहले गणेश जी के दर्शन कर आशीर्वाद लिए हैं।
एशिया का नियाग्रा कहे जाने वाले चित्रकोट जल प्रपात की सैर करने भी लोगों की जबरदस्त भीड़ उमड़ी रही।
एशिया का नियाग्रा कहे जाने वाले चित्रकोट जल प्रपात की सैर करने भी लोगों की जबरदस्त भीड़ उमड़ी रही।
बस्तर की जीवनदायिनी कही जाने वाली इंद्रावती नदी किनारे डीजे की धुन में युवा थिरकते हुए नजर आए। यहां पिकनिक मनाने भी लोग अपने परिवार के साथ पहुंचे थे।
बस्तर की जीवनदायिनी कही जाने वाली इंद्रावती नदी किनारे डीजे की धुन में युवा थिरकते हुए नजर आए। यहां पिकनिक मनाने भी लोग अपने परिवार के साथ पहुंचे थे।
बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के मंदिर में भी दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा।
बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के मंदिर में भी दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा।
बारसूर के सातधार जल प्रपात को देखने के लिए लोगों की उत्सुकता हमेशा बनी रहती है। हर साल के मुताबिक इस साल यहां पर्यटक ज्यादा पहुंचे।
बारसूर के सातधार जल प्रपात को देखने के लिए लोगों की उत्सुकता हमेशा बनी रहती है। हर साल के मुताबिक इस साल यहां पर्यटक ज्यादा पहुंचे।
चित्रकोट में लोगों ने अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ बोटिंग का भी आंनद लिया।
चित्रकोट में लोगों ने अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों के साथ बोटिंग का भी आंनद लिया।
खबरें और भी हैं...