चर्च के पास्टर ने किया विधवा से रेप:शादी का झांसा देकर 2 साल से संबंध बना रहा था, प्रेग्नेंट हुई तो खिला दी गर्भपात की दवा; महिला की हालत गंभीर; गिरफ्तार

जगदलपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधवा महिला से दुष्कर्म के आरोपी पास्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
विधवा महिला से दुष्कर्म के आरोपी पास्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के गीदम थाना क्षेत्र में विधवा महिला को शादी का झांसा देकर चर्च का एक पास्टर दुष्कर्म करता रहा। इस बीच महिला गर्भवती हो गई तो पास्टर ने उसे मेडिकल स्टोर से लाकर दवाई खिला दी। इसके बाद महिला की तबीयत बिगड़ गई है। उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी पास्टर को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि पास्टर भी शादीशुदा है।

गीदम शहर के अटल आवास के पास स्थित एक चर्च का पास्टर बाबूलाल नाग (43) शहर की ही 35 साल की एक विधवा महिला के संपर्क में था। महिला ने करीब 10 साल पहले धर्मांतरण किया था। आरोप है कि करीब 2 साल पहले पास्टर ने महिला को शादी का झांसा देकर प्रेम जाल में फंसाया। इसके बाद से ही शादी का वादा कर संबंध बनाता रहा। इस बीच महिला दो माह की गर्भवती हो गई। उसने पास्टर को इसके बारे में जानकारी दी।

मेडिकल स्टोर से लाकर जबरदस्ती खिलाई दवा
पुलिस ने बताया कि आरोपी पास्टर ने महिला के गर्भपात के लिए मेडिकल स्टोर से दवाएं ले आया और उसे जबरदस्ती खिला दी। दवाई खाने के बाद महिला की तबीयत बिगड़ने लगी। इस पर आसपास के लोगों ने उसे गीदम के अस्पताल में भर्ती कराया। जहां हालत गंभीर देख डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। दवाई खाने के बाद से उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। DSP आशारानी ने बताया कि जानकारी मिलने के बाद आरोपी पास्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पति की मौत के बाद किया धर्म परिवर्तन
लगभग 12 साल पहले महिला के पति की मौत हो गई थी। पति की मौत के बाद महिला अपने ससुराल वालों के साथ नहीं रहती थी। हालांकि अपनी बेटी को सास-ससुर के पास छोड़ दी थी। पति की मौत के बाद मजदूरी का काम कर अपनी जिंदगी चला रही थी। कुछ दिनों के बाद महिला बीमार हुई, आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण इलाज के लिए इसके पास पैसे नहीं थे। इसी बीच मिशनरी लोगों से महिला का संपर्क हुआ। उन्होंने इसका इलाज भी करवाया था। जिसके बाद महिला ने धर्मांतरण कर लिया। महिला ने पुलिस को बताया कि वो अपनी मर्जी से अपना धर्म परिवर्तन की थी।

पास्टर के घर पर काम करती थी महिला
बताया जा रहा है कि, अटल आवास के पास स्थित चर्च सहित सामाजिक कार्यों में महिला अक्सर आया करती थी। 4 साल पहले महिला और पास्टर की पहचान हुई। पति की मौत के बाद महिला की आर्थिक स्थिति को देख पास्टर ने उसे अपने घर में काम पर रखा था। यह भी जानकारी मिली है कि पास्टर ने इसे रहने के लिए दूसरा मकान भी दिया था। वहीं पिछले 2 सालों से शादी का झांसा देकर पास्टर महिला के साथ लगातर दुष्कर्म कर रहा था। पास्टर भी पहले से शादीशुदा है। इसके एक बेटा और एक बेटी है जो कॉलेज में पढ़ाई करते हैं।

एक सप्ताह पहले खिलाई थी दवा
पुलिस ने बताया कि, पास्टर ने लगभग एक सप्ताह पहले गर्भपात के लिए महिला को दवा खिलाई थी। 27 सितंबर को महिला की तबियत अचानक बिगड़ी जिसे गीदम के अस्पताल लाया गया था। वहीं 28 सितंबर को पुलिस को इस मामले की जानकारी मिली थी। जिसके बाद उसे पकड़ा गया। पास्टर से पूछताछ में लगभग 1 दिन से ज्यादा का समय लग गया। 29 सितंबर को विधिवत गिरफ्तारी की कार्यवाई पुलिस ने की और इसे न्यायालय में पेश किया गया।

खबरें और भी हैं...