मंत्री के कार्यक्रम में नहीं पहुंची देवती कर्मा:किरंदुल में कवासी लखमा ने करोड़ों रुपए के विकास कार्यों का किया भूमिपूजन, आमंत्रण के बाद भी नहीं आईं विधायक; लखमा बोले-दुख हुआ

जगदलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंत्री कवासी लखमा ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की तस्वीर पर पुष्प अर्पित भी किया। - Dainik Bhaskar
मंत्री कवासी लखमा ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की तस्वीर पर पुष्प अर्पित भी किया।

छत्तीसगढ़ के आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने शनिवार को दंतेवाड़ा जिले के किरंदुल में करोड़ों रुपए के विकासकार्यों का भूमिपूजन किया। इसके साथ ही उन्होंने नगर पालिका में गांधी जी की प्रतिमा का अनावरण भी किया। इस दौरान बीजापुर के विधायक विक्रमशाह मंडावी समेत तमाम अधिकारी और कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद रहे। मगर क्षेत्रीय विधायक देवती कर्मा सहित पूरा कर्मा परिवार दूर रहा। बताया गया कि विधायक को कार्यक्रम में बुलाया भी गया था। इसके बावजूद वो कार्यक्रम में शामिल नहीं हुईं।

लखमा ने नगर पालिका में गांधी जी की प्रतिमा का अनावरण किया साथ ही करोड़ो रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन भी किया।
लखमा ने नगर पालिका में गांधी जी की प्रतिमा का अनावरण किया साथ ही करोड़ो रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन भी किया।

कर्मा परिवार के नहीं पहुंचने का दुख हुआ- लखमा

उधर, देवती कर्मा के इस कार्यक्रम में नहीं पहुंचने पर मंत्री कवासी लखमा ने अपने भाषण​​​​​​​ के दौरान कहा कि इस कार्यक्रम में कर्मा परिवार का एक भी सदस्य नहीं पहुंचा है। यहां तक कि विधायक भी नहीं आईं इसका मुझे दुख है।

गांधी जयंती के मौके पर जिला मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में देवती कर्मा सहित पूरा कर्मा परिवार मौजूद था।
गांधी जयंती के मौके पर जिला मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में देवती कर्मा सहित पूरा कर्मा परिवार मौजूद था।

जिला मुख्यालय के कार्यक्रम में मौजूद थीं देवती
इधर, गांधी जयंती के मौके पर जिला मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में देवती कर्मा, कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष अवधेश सिंह गौतम, जिपं अध्यक्ष तूलिका कर्मा, सुलोचना कर्मा, छविंद्र कर्मा सहित पूरा कर्मा परिवार उपस्थित रहा। हालांकि जब भास्कर ने विधायक से इस बारे में बात करने की कोशिश की तो विधायक से बात नहीं हो सकी है। उधर, कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष अवधेश सिंह गौतम ने कहा कि जिला मुख्यालय में कार्यक्रम पूर्व से निर्धारित था। किरंदुल का कार्यक्रम अचानक हुआ, इस वजह से शामिल नहीं हो पाए।