प्राचार्य को नोटिस, 6 शिक्षकों का वेतन भी कटा:संयुक्त संचालक शिक्षा हेमंत उपाध्याय ने दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले के स्कूलों का निरीक्षण किया

जगदलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंगलवार को संयुक्त संचालक शिक्षा हेमंत उपाध्याय ने दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले के कटेकल्याण के स्कूलों व आश्रमों में व्यवस्थाओं को देखा। इस दौरान उन्होंने हायर सेकेंडरी स्कूल शासकीय, नवीन हाईस्कूल, स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय, कस्तूरबा गांधी विद्यालय, मेटापाल के हायर सेकेंडरी स्कूल, कारली के पोटाकेबिन, बीजापुर जिले के पूसनार मिडिल स्कूल, भैरमगढ़ के हायर सेकेंडरी स्कूल व स्वामी आत्मानंद स्कूलों का निरीक्षण किया। कटेकल्याण हायर सेकेंडरी स्कूल में 10वीं व 12वीं के बच्चों से चर्चा में संयुक्त संचालक (जेडी) को पता चला कि पाठ्यक्रम ही पूरा नहीं हो पाया है।

ऐसे में उन्होंने विषय शिक्षकों से एक्स्ट्रा क्लास लेकर पाठ्यक्रम पूरा करवाने कहा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बीईओ दफ्तर में रखी उनकी सेवा पुस्तिकाओं को संबंधित प्राचार्यों को दिया जाएगा। स्वामी आत्मानंद स्कूल में बेहतर शिक्षण के लिए शिक्षकों व प्राचार्य को निर्देश दिए।

इन शिक्षकों पर हुईं कार्रवाई: भैरमगढ़ के आत्मानंद स्कूल में तिमाही परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाएं बच्चों को नहीं दिखाने के चलते व्याख्याता सुनीता साहू व सुधा निषाद के दिसंबर महीने का वेतन रोकने के निर्देश बीईओ को दिए गए। कारली पोटाकेबिन में सहायक शिक्षक अंजलि ठाकुर, लक्ष्मीनारायण, कमला व वंदना नाग स्टाफ रूम में बैठे मिले, जबकि 3 शिक्षक अनुपस्थित रहे और 5 कक्षाएं खाली थीं।
ऐसे में इन शिक्षकों का वेतन रोकने के निर्देश भी दिए गए। निरीक्षण के दौरान व्याख्याता तमन्ना पैकरा, महेंद्र जगत, अरुण ठाकुर, विज्ञान सहायक प्रवीण जाटव, सहायक शिक्षक पंकज देशमुख, पूरन सिंह अनुपस्थित पाए गए, जिसके चलते उनका एक दिन का वेतन काटने के निर्देश भी संयुक्त संचालक ने दिए हैं।

अधीक्षक को भी बेहतर काम करने कहा
कस्तूरबा गांधी स्कूल में व्यवस्थाओं में लापरवाही मिली, जिस पर एबीईओ और बीईओ को हर हफ्ते संस्था का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही अधीक्षक को भी बेहतर कार्य करने चेतावनी के साथ निर्देशित किया गया। मेटापाल स्कूल में बच्चों का प्रायोगिक कार्य अब तक शुरू नहीं होने पर पता चला कि प्राचार्य संस्था का निरीक्षण ही नहीं करते। ऐसे में उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी की गई।

खबरें और भी हैं...