गैस एजेंसी के नाम पर फ्रॉड:गूगल पर सर्च कर किया अप्लाई, प्रोसेस बता ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिए साढ़े 4 लाख रुपए; उत्तराखंड से गिरफ्तार

जगदलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी संजय चौधरी (45) को उसके घर ऋषिकेश से गिरफ्तार किया गया। - Dainik Bhaskar
आरोपी संजय चौधरी (45) को उसके घर ऋषिकेश से गिरफ्तार किया गया।

छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा पुलिस ने ऑनलाइन ठगी करने वाले एक आरोपी को उत्तराखंड से गिरफ्तार किया है। आरोपी ने गैस एजेंसी दिलाने के नाम पर किरंदुल के एक व्यक्ति से 4.58 लाख रुपए की ठगी की थी। मामला साल 2020 का है। किरंदुल थाना में हुई FIR के बाद आरोपी की तलाश में पुलिस जुटी रही। जिसे 4 नवंबर को गिरफ्तार कर दंतेवाड़ा लाया गया है।

जानकारी के मुताबिक, सुखदेव कोर्राम (62) ने शहर में गैस एजेंसी का काम लेने के लिए गूगल में सर्च कर उसका प्रोसेस देखा था। जब वेबसाइट पर क्लिक किया तो एक फॉर्म आया जिसे भर कर उसने सबमिट किया था। कुछ देर बाद एक अंजान नंबर से सुखदेव के पास फोन आया। फोन पर व्यक्ति ने खुद को गैस कंपनी का कर्मचारी हूं बता कर सुखदेव से कहा कि आप ने ऑनलाइन फॉर्म सबमिट किया है, आप का फॉर्म मिल चुका है, बस कुछ राशि जमा करनी होगी।

जिसके बाद सुखदेव ने कुछ राशि जमा कर दी। कुछ दिनों के बाद उसी नंबर से कॉल आया और प्रोसेस अधूरा है कह कर फिर राशि डालने को कहा। यह सिलसिला लगभग 1 महीने तक चलता गया। तब तक सुखदेव 4.58 लाख रुपए ट्रांसफर कर चुके थे। उसके बाद जब उन्होंने एजेंसी कितने दिनों में मिलेगी पूछने के लिए वापस कॉल किया तो फोन बंद आया। जिसके बाद उन्हें जानकारी लगी कि उनके साथ फ्रॉड हुआ है। जिसकी शिकायत उन्होंने फौरन किरंदुल थाना में की थी। FIR होने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई थी।

ऋषिकेश से किया गया गिरफ्तार
मामले की जांच कर रही पुलिस को पता चला कि आरोपी उत्तराखंड के ऋषिकेश का रहने वाला है। जिसके बाद कुछ दिनों पहले ही पुलिस टीम को ऋषिकेश रवाना किया गया था। वहां तलाश के दौरान आरोपी संजय चौधरी (45) को उसके घर शिवाजी नगर गली नंबर 26 से गिरफ्तार किया गया। SP डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि आरोपी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।