प्रशासन की रोक, फिर भी PCC चीफ की पदयात्रा:मां दंतेश्वरी के दर्शन के लिए कोंडागांव से निकले मरकाम, कहा- प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना लिए जा रहा हूं

जगदलपुर2 महीने पहले
आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के दर्शन करने PCC अध्यक्ष मोहन मरकाम दंतेवाड़ा आ रहे हैं।

छत्तीसगढ़ के प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम शारदीय नवरात्र में पदयात्रा कर दंतेवाड़ा आ रहे हैं। लगभग 170 किमी की दूरी तय कर मां दंतेश्वरी के दर्शन करेंगे। बताया जा रहा है कि, प्रशासन की मनाही के बाद भी PCC अध्यक्ष मोहन मरकाम कुछ लोगों के साथ 2 दिन पहले कोंडागांव से पैदल निकल चुके हैं। मोहन मरकाम ने कहा कि, प्रदेश वासियों की खुशहाली व सुख समृद्धि की मनोकामना के लिए मां दंतेश्वरी के दर्शन करने जा रहा हूं।

दरअसल, कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए दंतेवाड़ा जिला प्रशासन ने पद यात्रा कर मंदिर न आने के लिए श्रद्धालुओं से अपील की थी। प्रचार-प्रसार करने के लिए कलेक्टर दीपक सोनी ने संभाग के बस्तर, कोंडागांव, बीजापुर, सुकमा सहित अन्य जिलों के कलेक्टर को पत्र लिख कर सहयोग भी मांगा था। इसके बावजूद मोहन मरकाम पद यात्रा पर कोंडागांव जिले से निकल चुके हैं। बताया जा रहा है कि पंचमी के दिन वे आराध्य देवी के दरबार पहुंच जाएंगे।

बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी।
बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी।

नवरात्र के एक दिन पहले मंदिर खोलने का लिया गया था निर्णय
कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए जिला प्रशासन व टेंपल कमेटी ने शारदीय नवरात्र में मंदिर बंद रखने का निर्णय लिया था। लेकिन, भक्तों की आस्था का ख्याल रख नवरात्र शुरू होने के ठीक एक दिन पहले आनन-फानन में दोबारा बैठक रखी गई। इसके बाद मंदिर खोलने का निर्णय लिया गया। कोरोना नियमों का पालन करवा प्रशासन अब भक्तों को मां दंतेश्वरी के दर्शन करवा रहा है।

1 शारदीय व 2 चैत्र नवरात्र बंद था मंदिर
इससे पहले कोरोना महामारी की पहली और दूसरी लहर को देखते हुए जिला प्रशासन ने मां दंतेश्वरी के मंदिर में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया था। एक शारदीय व 2 चैत्र नवरात्र में माता का मंदिर बंद था। मंदिर के पुजारी पूरे विधिविधान से माता की पूजा अर्चना करते थे। इधर भक्तों के लिए ऑनलाइन माध्यम से दर्शन की सुविधा भी प्रशासन ने की थी।

खबरें और भी हैं...