रेलवे स्टेशन में एक दिन का सत्याग्रह:बंद ट्रेनें शुरू कराने सांसद का धरना, बोले- रेल भी रोकेंगे

जगदलपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बस्तर में बंद पड़ी यात्री रेल सेवाओं को दोबारा शुरू करने की मांग को लेकर सांसद दीपक बैज ने रेलवे स्टेशन में एक दिन का सत्याग्रह किया। सांसद के साथ पूरी कांग्रेस पार्टी और शहर के कई संगठन भी सत्याग्रह को समर्थन देने पहुंचे। ये मांग सांसद लोकसभा में भी उठा चुके हैं। उन्होंने कहा कि बस्तर में रेल सुविधाएं नितांत रूप से चाहिए। जबकि लगातार बस्तर का शोषण होता रहा है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की नजर में बस्तर सिर्फ एक छोटा सा कोना है, लेकिन बस्तर से हर साल अरबों-खरबों का लोहा बाहर ले जाया जा रहा है, देश की अर्थव्यवस्था को बनाए रखने में बस्तर एक बड़ा हिस्सेदार है, बावजूद बस्तर रेल व विमान सेवा में उपेक्षित है। अगर रेलवे बोर्ड बस्तर में बंद पड़ी रेल सेवाओं को शुरू करने के साथ ही यहां की रेल जरूरतों को पूरा नहीं करता तो आने वाले समय में वे कांग्रेस के बैनर तले बड़ा आंदोलन करेंगे।

इस आंदोलन में रेल भी रोकी जाएगी। उन्होंने कहा कि रेल सेवाओं से संभाग के दूरस्थ जिले बीजापुर व सुकमा को भी जोड़ा जाए। सत्याग्रह के बाद सांसद ने रेलवे बोर्ड के नाम स्टेशन मैनेजर एसएस चंद्रा को ज्ञापन सौंपा, जिसमें उन्होंने बस्तरहित में 9 मांगें रेलवे बोर्ड के सामने रखी हैं। इस दौरान नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव शर्मा, बलराम मौर्य, सुशील मौर्य, उमाशंकर शुक्ल, कविता साहू, मनोहर लूनिया, उदयनाथ जेम्स, सूरज कश्यप, फैसल नवी, महेश द्विवेदी सहित अन्य नेता मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...