• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Jagdalpur
  • On The Occasion Of Panchami, The Members Of The Royal Family Including Bastar Raja Reached The Maa Danteshwari Temple, Worshiped By Law, Crowds Of Devotees Also Gathered.

बस्तर राजा ने दंतेश्वरी देवी को किया आमंत्रित:प्रसिद्ध दशहरे की महत्वपूर्ण रस्म दंतेवाड़ा में हुई, पंचमी में सपरिवार पहुंचे राजा ने माता की पूजा की; भक्तों की भी लगी भीड़

जगदलपुर2 महीने पहले
मां दंतेश्वरी की पूजा अर्चना करते राज परिवार के सदस्य।

शारदीय नवरात्र में पंचमी के मौके पर पूर्व बस्तर रियासत के राजा कमलचंद भंजदेव व राज परिवार के सदस्य दंतेवाड़ा में स्थित आराध्य देवी मां दंतेश्वरी मंदिर पहुंचे। जिन्होंने मां दंतेश्वरी व मां मावली की पूरे विधि-विधान से पूजा अर्चना की। साथ ही विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा में शामिल होने के लिए निमंत्रण भी दिया है। इधर पंचमी के मौके पर मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ भी उमड़ी। दूर-दराज से पहुंचे श्रद्धालुओं ने माता रानी के दर्शन कर आशीर्वाद लिया।

बस्तर राजा कमलचंद भंजदेव ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत की।
बस्तर राजा कमलचंद भंजदेव ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत की।

दरअसल, सालों से चली आ रही परंपराओं के अनुसार, पंचमी के दिन ही बस्तर के राजा और राज परिवार के सदस्य मां दंतेश्वरी के मंदिर पहुंच कर माता की आराधना करते हैं। कमलचंद भंजदेव ने दैनिक भास्कर से खास बातचीत में कहा कि, राजा होने के पहले मैं मां दंतेश्वरी का पुजारी हूं। रियासत में कहा गया है कि, बस्तर के राजा ही मां दंतेश्वरी के प्रमुख पुजारी होते हैं। माता का यह वरदान रहा है कि, तुम्हारी यानि राजा की ही पूजा को मैं स्वीकार करूंगी।

उन्होंने कहा कि, लगभग 700 सालों से यह परंपरा चली आ रही है। पंचमी के दिन माता की पूजा अर्चना करने के लिए राजा ही आते हैं। मां मावली के यंत्र की पूजा की जाती है। साथ ही माता की डोली को मैं जिया बाबा को सौंपता हूं, ताकि वे बस्तर दशहरा में ले कर आएं। मैं माता का स्वागत करुं।

मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए रविवार सुबह से ही भक्तों की कतार लगना शुरू हो गई थी
मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए रविवार सुबह से ही भक्तों की कतार लगना शुरू हो गई थी

दैनिक भास्कर में पढ़ी मंदिर खुलने की खबर
आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए केवल बस्तर से ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्य ओडिशा, आंध्र प्रदेश व मध्य प्रदेश के कुछ जिलों से भी भक्त पहुंचे थे। मध्यप्रदेश से आए भक्तों ने कहा कि, पहले यह जानकारी मिली थी कि, इस शारदीय नवरात्र भी मंदिर भक्तों के लिए बंद रहेगा। लेकिन नवरात्र के ठीक 1 दिन पहले हमने दैनिक भास्कर में खबर पढ़ी कि, मंदिर भक्तों के लिए खोला जा रहा है। यह खबर भक्तों के लिए काफी सुकून भरी थी। वहीं आज पंचमी के मौके पर आराध्य देवी के दर्शन करने के लिए पहुंचे हैं। मां दंतेश्वरी के प्रति हमारी एक बड़ी आस्था है। मां सबकी मुरादें पूरी करती हैं।

भक्तों की थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है।
भक्तों की थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है।

गर्भगृह से लेकर जय स्तंभ तक लगी भक्तों की कतार
मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए रविवार की सुबह से ही भक्तों की कतार लगना शुरू हो गई थी। मंदिर के गर्भगृह से लेकर दंतेवाड़ा के जय स्तंभ चौक तक दर्शन के लिए दिनभर लाइन लगी रही। सुरक्षा में तैनात जवान व जिला प्रशासन की टीम भक्तों के लिए व्यवस्था बनाने में लगे रहे। स्वास्थ विभाग की टीम द्वारा मंदिर आने वाले भक्तों की थर्मल स्क्रीनिंग भी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...