पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

7 लोगों ने मौके पर तोड़ दिया था दम:ओडिशा में हुए हादसे में घायल एक और महिला की मौत, मृतकों की संख्या हुई 10

जगदलपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 31 जनवरी की रात हुए हादसे में कलचा के 9 महिलाओं की हुई थी मौत

ओडिशा के आमागांव के निकट 31 जनवरी की रात साढ़े नौ बजे एक पिकअप पेड़ से टकराई थी जिसमें जगदलपुर के कलचा में रहने वाले 9 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 12 लोग घायल हुए थे। घटना के बाद घायलों को इलाज के लिए मेकॉज में भर्ती किया गया था। इस बीच एक दिन पहले एक महिला को बेहतर उपचार के लिए रायपुर रेफर किया गया तो वहीं एक 53 वर्षीय महिला केले पति रामचंद्र ने इलाज के दौरान शनिवार को दम तोड़ दिया है।

इस मौत के साथ ही हादसे में मरने वालों की संख्या अब दस पहुंच गई है। जिस महिला की मौत हुई है वह मोरठपाल की रहने वाली है। इधर महिला की मौत की खबर लगते ही बड़ी संख्या में मोरठपाल के ग्रामीण मेकॉज पहुंच गए। मेकॉज के डाॅक्टरों के अनुसार महिला ओडिशा में हुए हादसे में घायल हुई थी ऐसे में इस मामले की एफआईआर कोटपाड़ थाने में दर्ज है।

चूंकि महिला ओड़िशा में घायल हुई थी इलाज के दौरान छत्तीसगढ़ में दम तोड़ा है ऐसे में महिला के पीएम से संबंधित सभी दस्तावेज ओडिशा पुलिस ही तैयार करेगी। महिला के पीएम के लिए ओडिशा के कोटपाड़ से पुलिस को बुलवाया गया और वहीं के पुलिस वालों ने पंचनाम कार्रवाई पूरी करने के बाद महिला पीएम मेकाज में करवाया।

7 लोगों ने मौके पर तोड़ दिया था दम

गौरतलब है कि कलचा और मोरठपाल के दो दर्जन से ज्यादा ग्रामीण शोक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए 31 जनवरी को ओड़िशा गए हुए थे वहां लौटने के दौरान ग्रामीणों से भरी पिकअप पेड़ से जा टकराई थी और पलट गई थी। इस घटना में 7 लोगों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था जबकि दो महिलाओं ने कोटपाड़ हॉस्पिटल में दम तोड़ा था। घटना के तत्काल बाद सभी घायलों को इलाज के लिए मेकॉज ले आया गया था जहां इनका इलाज जारी था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें