पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीके का टोटा:18+ के लिए टीके की 5 हजार डोज ही आई इधर 16 केंद्रों में 45+ वाला कोई नहीं आया

जगदलपुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3.50 लाख में से 32 हजार लोगों को ही लगी है पहली डोज, दूसरी डोज का ठिकाना नहीं

जिले में 18-44 साल की उम्र के करीब साढ़े तीन लाख लोगों को कोरोना से बचाने के लिए इन दिनों वैक्सीन की कमी भारी पड़ने लगी है। लोग समय पर वैक्सीन लगे के इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से लगातार संपर्क कर रहे हैं। करीब 11 दिनों के बाद स्वास्थ्य विभाग को रायपुर से कोविशील्ड की 5 हजार डाेज ही मिल सकी है। इधर रविवार को जिले में 45+ के लिए 16 केंद्रों में वैक्सीनेश की व्यवस्था की गई थी लेकिन कोई ग्रामीण नहीं आया।

शहरी क्षेत्र के नोडल अधिकारी पीडी बस्तिया ने कहा कि पहले से की गई प्लानिंग के अनुसार सोमवार को शहर के 8 केंद्रों में वैक्सीनेशन करने की योजना तो बनाई गई है। लेकिन यहां पर कितने लोगों को यह वैक्सीन लगवाई जाएगी यह अब तक तय नहीं हो पाया है। उम्मीद की जा रही है हर सेंटर में कम से कम 100 लोगों को यह वैक्सीन लगाई जाएगी। जबकि ग्रामीण क्षेत्र में कितने सेंंटर पर कितने लोगों को यह वैक्सीन लगेगी इसका निर्णय देर शाम तक नहीं हो सका था। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ सीआर मैत्री ने बताया कि वैक्सीन लगाने के लिए केंद्र का निर्णय हर ब्लॉक के बीएमओ करते हैं। सोमवार को टीकाकरण केंद्र पर कितने डोज लगाए जाएंगे इसकी जानकारी वे अब तक नहीं भेज सके हैं। बावजूद इसके ग्रामीण क्षेत्रों में करीब 30 सेंटर पर वैक्सीनेशन होने की संभावना है।

केंद्रों में कितने टीके लगाएंगे इसका फैसला शाम तक नहीं

5 दिन बाद फिर बंद हो सकता है वैक्सीनेशन
इधर जहां एक ओर सोमवार से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी असमंजस में हैं तो कुछ अफसरों का मानना है कि पांच हजार डोज पांच दिनों में खत्म हो जाएगी। इसके बाद एक बार फिर से टीका लगना बंद हो जाएगा। इस बार आई कोविशील्ड वैक्सीन केवल पहली बार टीका लगवाने वाले लोगों को ही लगाई जाएगी।

7900 लोग दूसरी डोज के लगने का इंतजार कर रहे
जिले में 18-44 साल के लोगों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अब तक कोविशील्ड और कोवैक्सीन भेजी है। इसमें से करीब 7900 लोगों को कोवैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। दूसरी डोज कब लगेगी इसका पता लगाने के लिए लोग वैक्सीनेशन सेंटर और स्वास्थ्य विभाग के चक्कर लगा रहे हैं। उन्हें 28 दिन के बाद दूसरा डोज लगने की बात कही थी।

एक निजी हॉस्पिटल में पैसे देकर लगवा सकेंगे टीका
कोरोना महामारी से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने अब शहर के एक निजी हास्पिटल को भी वैक्सीन लगवाने की स्वीकृति दे दी है। निजी हॉस्पिटल ने भी इस संबंध में तैयारी कर ली है। जिला टीकाकरण अधिकारी ने कहा कि निजी हॉस्पिटल प्रबंधन जल्द ही वैक्सीन बनाने वाली कंपनी से सीधी बात कर वैक्सीन मंगवाएगा और अपना रेट तय कर वैक्सीन लगाएगा।

खबरें और भी हैं...