केंद्रीय राज्य मंत्री पहुंचीं बस्तर:रेणुका सिंह बोलीं- पंडो जनजाति के लिए सीएम कुछ नहीं कर रहे, सवाल: आप यहां आईं पर ग्रामीणों से मिलने सिलगेर क्यों नहीं गईं?

जगदलपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पत्रकारों से चर्चा करतीं केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह। - Dainik Bhaskar
पत्रकारों से चर्चा करतीं केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह।
  • रेणुका सिंह बोलीं: एक ही दिन का दौरा था, अगली बार जरूर जाऊंगी

केंद्रीय जनजातीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह अपने दो दिनों के जगदलपुर प्रवास के दौरान गुरुवार को सर्किट हाउस में पत्रकारों से मुखातिब हुईं। इस दौरान जब उनसे ये पूछा गया कि वे दो दिनों से जगदलपुर में हैं, इस बीच वे सिलगेर में आदिवासियों के पास उनसे मिलने क्यों नहीं गईं, जबकि वहां भी निर्दोष आदिवासी मारे गए थे।

उन्होंने कहा कि बस्तर का एक दिन का दौरा था और गुरुवार को लौट रही हूंं। अगली बार सिलगेर जरूर जाऊंगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। कांग्रेस की सरकार बनते ही प्रदेश में अब सांप्रदायिक तनाव बढ़ने लगा है, जबकि डेढ़ दशक के भाजपा के शासनकाल में सांप्रदायिकता का एक भी मामला सामने नहीं आया था। उन्होंने सीएम भूपेश बघेल पर आरोप लगाते कहा कि उन्हें प्रदेश के हालात और जनता से कोई सरोकार नहीं है, बल्कि वे दिल्ली के एक ही खानदान को खुश करने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र का दर्जा पंडो जनजाति के लोगों के संरक्षण की कोई चिंता ही कांग्रेस सरकार की नहीं है। भूपेश बघेल सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने की जुगत में लगे हुए हैं। इस दौरान पूर्व विधायक राजाराम तोड़ेम, लच्छूराम कश्यप, डॉ. सुभाउ कश्यप, नरसिंह राव, संग्राम सिंह राणा, अविनाश श्रीवास्तव सहित अन्य मौजूद थे।

गांधी परिवार को खुश करने काम कर रहे भूपेश
केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह ने कहा कि एक तरफ कवर्धा जल रहा है, दूसरी तरफ गांधी परिवार को खुश करने के लिए सीएम भूपेश यूपी में धरने पर बैठे हुए हैं। कांग्रेस की परंपरा रही है कि गरीबों के साथ होने का ढोंग दिखाकर उनका ही शोषण किया जाए। पंडो जनजाति के संरक्षण के लिए काम करने के बजाय सीएम यूपी में मारे गए किसानों के लिए 50-50 लाख रुपए देने की घोषणा कर आए हैं। रेणुका ने आरोप लगाया कि सीएम से अपना घर संभल नहीं पा रहा है।

खबरें और भी हैं...