भक्तों के लिए खोले गए आस्था के पट:शारदीय नवरात्र के पहले दिन मां दंतेश्वरी के मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, ऑनलाइन दर्शन की भी है सुविधा

जगदलपुर/दंतेवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नवरात्र के पहले दिन माता का श्रृंगार किया गया। - Dainik Bhaskar
नवरात्र के पहले दिन माता का श्रृंगार किया गया।

भक्तों की आस्था का ख्याल रख शारदीय नवरात्र में दंतेवाड़ा में स्थित बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी मंदिर का पट गुरुवार को खोल दिया गया है। सुबह मंदिर के पुजारियों ने पूरे विधि विधान से माता की पूजा अर्चना की है। वहीं नवरात्र के पहले दिन सुबह से ही भक्तों की भीड़ उमड़ने लगी है। दूर-दराज से श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं। साथ ही इस बार मंदिर में कुल 4100 आस्था के ज्योत जलाए गए हैं।

मंदिर के प्रमुख पुजारी हरेंद्र नाथ जिया ने बताया कि, शारदीय नवरात्र के पहले दिन माता का श्रृंगार किया गया है। वहीं आराध्य देवी मां दंतेश्वरी से भक्तों की आस्था जुड़ी हुई है। केवल बस्तर से ही यहां भक्त नहीं पहुंचते बल्कि, पूरे देश व विदेशों से भी पहुंचते हैं। कोरोना महामारी की वजह से एक शारदीय व 2 चैत्र नवरात्र को माता का मंदिर भक्तों के लिए बंद था। लेकिन, फिर भी माता के दरबार भक्त पहुंचे थे। मंदिर के मुख्य द्वार में ही मत्था टेक वापस लौटे थे। लेकिन इस बार भक्तों की आस्था का ख्याल रख मंदिर को खोला गया है।

माता के दरबार में उमड़ी भीड़।
माता के दरबार में उमड़ी भीड़।

ऑनलाइन माध्यम से दर्शन की भी है सुविधा
बस्तर की आराध्य देवी मां दंतेश्वरी के दर्शन करने के लिए दंतेवाड़ा जिला प्रशासन व मंदिर समिति ने ऑनलाइन माध्यम से दर्शन की व्यवस्था की है। दंतेवाड़ा जिले की ऑफिशियल वेबसाइट व यूट्यूब का लिंक भी प्रशासन के द्वारा जारी किया गया है। जिसमें भक्त घर बैठे ही माता की आरती देख आशीर्वाद ले सकते हैं। साथ ही ऑनलाइन माध्यम से भी भक्त माता के मंदिर में अपने स्तर का चढ़ावा कर सकते हैं। इसके लिए प्रशासन ने मंदिर के बैंक से लिंक क्यूआर कोड भी जारी किया है।

एक दिन में ही प्रशासन व मंदिर समिति ने की तैयारी।
एक दिन में ही प्रशासन व मंदिर समिति ने की तैयारी।

दूसरी बैठक में लिया गया मंदिर खोलने का निर्णय
कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए प्रशासन व टेंपल कमेटी ने शारदीय नवरात्र में मंदिर बंद करने का निर्णय लिया था। लेकिन मंगलवार को प्रशासन व टेंपल स्टेट कमेटी ने दूसरी बैठक रखी। जिसमें सभी की सहमति से मंदिर को खोलने का निर्णय लिया गया। वहीं मंदिर में भक्तों के प्रवेश के लिए प्रशासन ने एक दिन में ही सारी तैयारी की है। मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है। साथ ही कोरोना के नियमों का भी पालन करवाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...